17 साल बाद वर्ल्ड क्रिकेट में 'विराट' का युग

नई दिल्ली (9 अक्टूबर): 1999 में लॉर्ड्स की बॉलकनी में जब स्टीव वॉ ने वर्ल्ड कप की ट्रॉफी उठाई थी, तब टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली 12 साल के भी नहीं थे। इस वर्ल्ड कप को जीतने के बाद स्टीव वॉ की टीम ने जो कारनामा किया, वो आज इतिहास है। 17 साल बाद वर्ल्ड क्रिकेट में अब विराट का युग चल रहा है। अब जीतने वाली टीम भी बदल गई है। अब जीत के लिए ऑस्ट्रेलिया नहीं बल्कि विराट की कप्तानी वाली टीम इंडिया को फेवरेट माना जाता है।

17 साल बाद टीम इंडिया उसी मोड़ पर खड़ी है, जिस मोड़ पर ऑस्ट्रेलिया खड़ी थी। उस दौर में ऑस्ट्रेलिया का वर्ल्ड क्रिकेट में एकछत्र राज था, लेकिन आज क्रिकेट के बड़े से बड़े दिग्गज विराट को सलाम करते है। रांची टी-20 जीतने के बाद टीम इंडिया के गब्बर का कहना है कि जो ऑस्ट्रेलिया 17 साल पहले थी आज वो दमखम टीम इंडिया के पास है।

शिखर धवन ने कहा, ''मैं मानता हूं कि जो 1990 के अंतिम और 2000 के शुरुआती दिनों में जिस राह पर ऑस्ट्रेलिया थी, वहां अब टीम इंडिया है। अब हम पिछले कुछ समय से शानदार परफॉर्म कर रहे हैं और अगर अब हम वैसा प्रदर्शन करते हैं, जैसा ऑस्ट्रेलिया ने एक समय किया था तो यह हमारी टीम के लिए सबसे बेहतर होगा।''

मौजूदा वक्त में धवन इस टीम को वर्ल्ड की बेस्ट टीम मानते है और माने भी क्यों ना, जो काम अजहरूद्दीन-सौरव गांगुली और धोनी नहीं कर पाए वो काम विराट की कप्तानी वाली टीम कर रही है। विराट अपनी कप्तानी में टीम इंडिया को टेस्ट, वनडे में नंबर-1 बना चुके है और अब उनकी नजर टी-20 में टीम इंडिया को नंबर-1 का ताज दिलाने पर है, जिसे वो इस साल हासिल कर लेंगे।