कोहली के इन रिकॉर्ड को देखकर ICC भी हुआ उनको विराट मानने को मजबूर

Photo: Google 

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 जनवरी): टेस्ट में नबंर वन, वनडे में भी नंबर वन और क्रिकेट के हर फॉर्मेट का सबसे बड़े बाहुबली बन गए हैं विराट कोहली। मैदान पर तो आपने विराट के कई रिकॉर्ड्स देखे होंगे। 11 साल के करियर में विराट कोहली जिस रफ्तार से रन और रिकॉर्ड अपने नाम कर रहे हैं, उसे देखते हुए ये कहा जा सकता है कि विराट जब क्रिकेट को अलविदा कहेंगे तो फिर हर रिकॉर्ड विराट कोहली के नाम होंगे। लेकिन पहली बार विराट ने आईसीसीसी अवॉर्ड में एक नया रिकॉर्ड अपने नाम किया है।

विराट कोहली ने दुनिया के पहले ऐसे क्रिकेटर बन गए हैं, जिन्होंने एक साथ आईसीसीसी के मेन्स क्रिकेटर ऑफ द ईयर का अवॉर्ड अपने नाम किया है। साथ में विराट टेस्ट क्रिकेटर ऑफ द ईयर भी बने और इसके आलावा विराट कोहली वनडे क्रिकेटर ऑफ द ईयर भी चुने गए हैं। विराट के करियर में ये पहला मौका है जब विराट टेस्ट क्रिकेट ऑफ द ईयर चुने गए हैं। जबकि लगातार दूसरे साल विराट कोहली वनडे क्रिकेटर ऑफ द ईयर बने हैं। वही विराट पहली बार मेन्स क्रिकेटर ऑफ द ईयर का भी अवॉर्ड अपने नाम किया है।

इतना ही नहीं आईसीसीसी ने विराट कोहली को आईसीसीस टेस्ट, आईसीसीसी वनडे और आईसीसीसी टी 20 टीम का कप्तान भी बनाया है। दरअसल पिछले साल विराट कोहली ने जहां बल्ले से कमाल करके दिखाया है। वही विराट ने हर टीम के खिलाफ अपनी कप्तानी का भी लोहा मनवाया है। इन अवॉर्ड की घोषणा के बाद विराट ने कहा, ''लगातार दूसरी बार यह प्रतिष्ठित पुरस्कार जीतकर खुश हूं। जब टीम ने पूरे कैलेंडर साल में बेहतर किया हो और उसमें मेरी परफॉर्मेंस का भी योगदान हो, तो अच्छा महसूस होता है। आईसीसी के अवॉर्ड देने की पहल से क्रिकेटरों को और अच्छा करने की प्रेरणा मिलती। मेरे लिए साल 2018 शानदार रहा। मैंने शायद ऐसी कल्पना भी नहीं की थी। अगर आपके इरादे पोजिटिव हो और आप कड़ी मेहनत करें, तो ऐसे ही परिणाम सामने आते हैं। मुझे लगता है खिलाड़ी का इरादा टीम की बेहतरी के लिए खेलना ही होता है।''

अगर देखे तो विराट कोहली ने पिछले साल क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट को मिलाकर 37 मैच  की 47 पारी से 2735 रन अपने नाम किए हैं, 68.37 की औसत से। इस दौरान विराट के बल्ले से कुल 11 शतक निकले। विराट ने वनडे में 6 और टेस्ट में 5 शतक अपने नाम किए। साथ विराट ने किसी एक साल के अंदर द.अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट मैच जीतने वाले पहले एशियाई कप्तान भी बने। शायद यही वजह है कि आईसीसीसी ने अपनी तीनों टीम की कमान विराट कोहली को दिया है।

जाहिर है विराट के लिए ये अवॉर्ड आने वाले समय में बुस्टर साबित होगा। वैसे भी विराट कोहली की नजर 2019 वर्ल्ड कप पर है। विराट पहली बार वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की कप्तानी करेंगे। ऐसे में आईसीसीसी के ये अवॉर्ड्स विराट कोहली के कॉन्फिडेंश को बढ़ाने का काम करेगा।