एक रन और बना लेते विराट तो टूट जाता 86 साल पुराना सबसे बड़ा रिकॉर्ड

नई दिल्ली (30 मई): टीम इंडिया के स्टार खिलाड़ी विराट कोहली आईपीएल के फाइनल में अपनी टीम को जीत तो नहीं दिला सके, लेकिन अपनी बैटिंग से सबके दिलों में एक अलग पहचान जरूर बना ली है। उन्हें सबसे ज्यादा रन बनाने का खिताब मिला। इसके बाद भी वो मात्र एक रन से क्रिकेट का 86 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए।

विराट हालांकि रिकॉर्ड के लिए नहीं बल्कि टीम के लिए खेलते हैं और यह बात उनके खेल में साबित होती है। लेकिन जब भी रिकॉर्ड वॉल पर अपनी नजरें दौड़ाएंगे उन्हें एक रन न बनाने की कमी हमेशा खलेगी। दरअसल, कोहली ने इस टूर्नामेंट में कुल 16 मैच खेलकर 973 रन बनाए। अगर एक रन और यानी 974 रन बना लेते तो वे क्रिकेट के सबसे बड़े खिलाड़ी डॉन ब्रैडमेन का रिकॉर्ड की बराबरी कर लेते।

बता दें कि क्रिकेट के किसी भी एक सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड सर डॉन ब्रैडमेन के नाम दर्ज है जिन्होंने  1930 में एशेज में पांच मैचों में 974 रन बनाए थे। वहीं कोहली को इस रिकॉर्ड की बराबरी करने के लिए महज 55 रन की जरूरत थी। लेकिन वे 54 रन बनाकर पवेलियन लौट गए और ब्रैडमेन के रिकॉर्ड की बराबरी करने से एक रन दूर रह गए। कोहली अब जब कभी भी आईपीएल रिकॉर्ड बोर्ड पर नजर दौड़ाएंगे तो उनको ये एक रन की दूरी बहुत खलेगी।

हालांकि कोहली ने इस टूर्नामेंट बहुत से ऐसे रिकॉर्ड बना डाले हैं जिनके आस-पास भी कोई खिलाड़ी नहीं भटकता दिख रहा। इस आईपीएल सीरीज में उन्होंने सबसे ज्याद 4 शतक का रिकॉर्ड बनाया। अभी तक किसी भी बल्लेबाज ने किसी भी आईपीएल सीजन में चार शतक नहीं लगाए हैं। वहीं सबसे ज्यादा 38 छक्के लगाने का भी रिकॉर्ड बनाया। सबसे ज्यादा 81 की औसत से सबसे ज्यादा 973 रनों का रिकॉर्ड भी बनाया। यही नहीं आईपीएल में सबसे ज्यादा 4110 रन भी विराट कोहली के ही नाम हैं।