कोलंबो टेस्ट से पहले कोच रवि शास्त्री हुए आग-बबूला


नई दिल्ली (2 अगस्त):
कोलंबो टेस्ट से पहले रवि शास्त्री जब मीडिया के सामने आए तो एक सवाल के जवाब में वो आग-बबूला हो गए। सवाल भी ऐसा जिसको लेकर उनकी जवाबदेही एकदम बनती थी। शास्त्री को बीसीसीआई सालाना साढ़े सात करोड़ रुपये की सैलरी देता है। ऐसे में पूरे हिंदुस्तान के मन में एक सवाल काफी समय से घूम रहा था कि हर महीने 55 से 60 लाख रुपये की सैलरी पाने वाले कोच की टीम में भूमिका क्या है? आखिर कोच रवि शास्त्री ये सब कैसे करते है।

कोलंबो में इस सवाल के जवाब पर रवि शास्त्री इस कदर आग-बबूला हो गए कि उन्होंने पत्रकार को ही आड़े हाथ ले लिया। रवि ने अपने गर्म तेवर में जवाब देते हुए कहा कि ये एक हुनर है। इसलिए मैं यहां हूं और तुम वहां। इस सवाल के जवाब से पहले कोहली के कोच ने टीम में अपने जिम्मेदारियों का खाता मीडिया के सामने रखा।
उन्होंने कहा कि मेरा रोल पूरे सपोर्ट स्टाफ के इंचार्ज का है, मेरा काम है कि मैं खिलाड़ियों को अपनी बात रखने की जेहनी आजादी दूं। मेरा काम यही है कि जब वो मैदान पर खेलने उतरें, उनके जेहन पर कोई भार न हो। वो पिछले तीन साल से टीम इंडिया के बेखौफ और सकारात्मक क्रिकेट खेलें जो भारत का ब्रांड है।

श्रीलंका दौरे पर टीम इंडिया के साथ पूरा स्पोर्टिंग स्टॉफ है, हर आदमी की इस दौरे पर अपनी-अपनी जिम्मेदारी है, लेकिन कोच रवि शास्त्री अपने ऊपर हुए सवाल पर गोल-मोल जवाब दे गए। ये सभी को मालूम है कि अनिल कुंबले को हटाने के बाद रवि शास्त्री को टीम इंडिया का नया कोच बनाया गया था, रवि को कोच बनाने में कप्तान कोहली का अहम योगदान रहा। विराट कोहली की पसंद के कोच पर बीसीसीआई इतनी मोटी रकम खर्च कर रहा है, ये बात किसी को हजम नहीं हो रही है, जबकि कोच रवि को मालूम ही नहीं है कि उनका रोल टीम इंडिया में क्या है।