द. अफ्रीका के खिलाफ कोहली का ये फैसला रहा टर्निंग प्वाइंट

नई दिल्ली (12 जून): चैंपियंस ट्रॉफी के मुकाबले में टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। करो या मरो के इस मुकाबले के लिए टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने तेज गेंदबाज उमेश यादव की जगह ऑफ स्पिनर आर अश्विन को मैदान में उतारने का फैसला किया और उनका यह फैसला सही साबित हुआ।


अश्विन ने मैच के दौरान अफ्रीकी बल्लेबाजों को बांधे रखा। भारत-साउथ अफ्रीका खेल शुरू होने से पहले तक इस टूर्नामेंट में 115 विकेट गिरे, जिनमें महज 25 विकेट स्पिनरों ने लिए। अब सेमीफाइल में भारत की टक्कर 15 जून को पड़ोसी बांग्लादेश से होगा। भारतीय गेंदबाजों ने दक्षिण अफ्रीका की मजबूत बैटिंग लाइनअप को ध्वस्त करके रख दिया। भारतीय खिलाड़ियों ने मैदान में गजब की फील्डिंग की और नंबर टीम के तीन बल्लेबाजों को रन आउट किया।


गेंदबाजी में कोहली ने कुछ बड़े और आक्रामक बदलाव किया, जिसका रिजल्ट भी देखने को मिला। दोनों ही स्पिनरों ने बड़ा योगदान दिया और अफ्रीका के ओपनर बल्लेबाजों को चलता किया। वहीं, भुवनेश्वर कुमार ने सधी हुई गेंदबाजी की और उनकी लाइन और लेंथ देखने लायक रही। जैसे ही क्विंटन डी कॉक आउट हुए साउथ अफ्रीका की पारी ताश के पत्तों की तरह ढह गई। सातवें ओवर में जब डि कॉक आउट हुए, वह भारत के लिए जीत का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ।