बर्थ-डे विशेषः ये है चीकू से विराट बनने का सफर

नई दिल्ली (5 नवंबर): टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान विराट कोहली किसी परिचय के मोहताज नहीं। पिछले पांच सालों में क्रिकेट की एक नई शैली को जन्म देने वाले विराट का जन्म 5 नवंबर 1988 को दिल्ली में हुआ। दाएं हाथ के विशेषज्ञ बल्लेबाज विराट सीमित ओवरों में टीम के उप कप्तान हैं। दुनिया के 8वें सबसे मशहूर खिलाड़ी विराट आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु के कप्तान भी हैं।

दिल्ली से अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत करने वाले विराट ने 2006 में फर्स्ट क्लास डेब्यू किया और 2008 में भारत की अंडर-19 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम की कप्तानी भी की। श्रीलंका के खिलाफ अपने करियर की शुरुआत करने वाले विराट 2011 में विश्व कप विजेता टीम के सदस्य भी रहे।

2011 में टेस्ट डेब्यू करने के बाद कोहली ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। कोहली की कप्तानी में ही टीम टेस्ट नंबर वन पर बनी हुई है। टी-20 में कोहली की सफलता का सबूत यही है कि 2014 और 2016 के आईसीसीस टी-20 विश्वकप में वो ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ चुने गए।

कोहली का खेल युवा खिलाड़ियों के लिए मिसाल है और खेल प्रेरणा। कोहली के नाम कई रिकॉर्ड दर्ज है। वो वनडे में सबसे तेज शतक लगाने वाले भारतीय खिलाड़ी हैं। इसके अलावा कोहली वनडे में सबसे कम पारियों में 10 शतक और सबसे तेज 7,500 रन बनाने वाले खिलाड़ी भी हैं।

क्रिकेट अलावा कोहली कई खेलों में अपनी दिलचस्पी दिखा चुके हैं। वो आईएसएल की टीम एफसी गोवा और आईपीटीएल में यूएई रॉयल्स के सह-मालिक भी हैं।