2016 का विराट बल्लेबाज बने कोहली...

वैभव भोला, नई दिल्ली (31 दिसंबर): टेस्ट हो, वनडे हो या फिर टी-20 साल 2016 में क्रिकेट के मैदान में नजारे काफी आम रहे। हर गुजरते मैच, हर गुजरती सीरीज और हर गुजरते महीने के साथ ही कोहली का प्रदर्शन और भी विराट होता गया। साल का धमाकेदार आगाज तो विराट ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में किया था, लेकिन साल के अंत तक कोहली बन गए टेस्ट क्रिकेट के विराट बल्लेबाज।

इस साल विराट ने पहले टेस्ट सीरीज वेस्टइंडीज में खेली, जहां उन्होंने अपने टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक जड़ दिया। इसके बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ भारत में विराट ने एक और दोहरा शतक जमाया और साल के अंत में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में विराट के बल्ले से निकला साल और करियर का तीसरा दोहरा शतक।

इस साल विराट ने 12 टेस्ट में 75.93 की शानदार औसत से 1215 रन बनाए। एक साल में 3 दोहरे शतक लगाने वाले विराट पहले भारतीय कप्तान भी बन गए। टेस्ट में धमाके के साथ जहां विराट ने साल का शानदार अंत किया तो वहीं इस साल की शुरुआत विराट ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे में विस्फोट के साथ की थी और यही प्रदर्शन विराट ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में भी जारी रखा।

इस साल खेले गए 10 वनडे में विराट ने 92.37 की औसत से 739 रन बनाए, जिसमें 3 शतक और 4 अर्धशतक शामिल थे और उनका बेस्ट स्कोर 154 नॉट आउट रहा। क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में तो विराट इस साल एक अलग ही अंदाज में नजर आए। पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया में टी-20 सीरीज, फिर बांग्लादेश में खेला गया एशिया कप और वर्ल्ड टी-20 में विराट ने गेंदबाजों की लाइन और लेंथ ही बिगाड़ कर रख दी।

विराट ने 15 टी-20 में 106.83 की औसत से 641 रन बनाए, जिसमें उन्होंने 7 अर्धशतक भी लगाएं। यानि इस साल विराट कोहली ने इंटरनेशनल क्रिकेट में 2595 रन बनाए। विराट के इस धमाके की ही बदौलत टीम इंडिया ने पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 सीरीज 3-0 से जीती। एशिया कप पर कब्जा जमाया, और न्यूजीलैंड को वनडे सीरीज में 3-2 से मात दी।

इस साल भारतीय क्रिकेट ने जिस भी मैच और सीरीज को अपने नाम किया उसमें हमें कोहला का विराट प्रदर्शन देखने को मिला और उम्मीद है कि विराट इस प्रदर्शन को साल 2017 में भी दोहराएंगे, क्योंकि अभी तो ये उनके सुनहरे भविष्य की शुरुआत ही है।