Blog single photo

फारूख इंजीनियर के चाय वाले दावे पर कोहली बोले- अनुष्का का नाम बीच में मत घसीटो

भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने पूर्व खिलाड़ी फारूख इंजीनियर (Farukh Engineer) के दावे पर चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा (Virat Kohli) आसान निशाना बनाया जाता है। आपको बता दें कि इंजीनियर ने हाल में पांच सदस्यीय चयन पैनल का उपहास करते हुए कहा था

Virat Kohli

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(1 दिसंबर): भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने पूर्व खिलाड़ी फारूख इंजीनियर (Farukh Engineer) के दावे पर चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा (Virat Kohli) आसान निशाना बनाया जाता है। आपको बता दें कि इंजीनियर ने हाल में पांच सदस्यीय चयन पैनल का उपहास करते हुए कहा था कि उन्होंने इनमें से एक को अनुष्का को इंग्लैंड में विश्व कप के दौरान चाय परोसते हुए देखा था।

भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने पूर्व खिलाड़ी फारूख इंजीनियर (Farukh Engineer) के दावे पर चुप्पी तोड़ते हुए शनिवार को कहा कि उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma) आसान निशाना बनती हैं। कोहली इन आरोपों से काफी हैरान थे और उन्होंने कहा कि अनुष्का का नाम इसमें घसीटना सही नहीं था। कोहली ने कहा, ‘वह श्रीलंका के खिलाफ एक विश्व कप मैच के लिए आई थी और फैमिली बॉक्स व चयनकर्ता बॉक्स अलग था और उस समय बॉक्स में कोई चयनकर्ता नहीं था, वह दो दोस्तों के साथ आईं। जैसा कि मैंने कहा कि वह मशहूर हैं और जब लोग उनका नाम लेते हैं, तो सभी का ध्यान इस पर जाता है।’

विराट कोहली (Virat Kohli)ने कहा, ‘जब आप चयनकर्ताओं के बारे में कुछ जिक्र करना चाहते हो तो ऐसा करो, लेकिन अनुष्का का नाम इसमें क्यों घसीटते हो।' अनुष्का ने इस पर नाराजगी जताते हुए कहा था कि यह कहानी झूठी है। उन्होंने यह भी कहा था कि भारतीय क्रिकेट के मामलों में उनका नाम बिना किसी कारण के कैसे लिया जाता है।

विराट (Virat Kohli) ने अनुष्का (Anushka Sharma) का बचाव करते हुए कहा, 'उनके बारे में काफी कुछ कहा गया है। लोगों को समझना होगा कि वह ऐसी इंसान हैं जिन्होंने खुद बहुत कामयाबी देखी है। जब हम मिले थे तब वह सुपरस्टार थीं। जहां तक बात नियमों को तोड़ने की है अनुष्का ऐसी नहीं हैं जो नियमों के खिलाफ जाएं। वह मेरे पेशे को  समझती है मैं उनके पेशे को और हम इसमें दखल अंदाजी नहीं करते। जब बहुत समय तक झूट को परोसा जाता है वह सच लगने लगता है ऐसे में सामने आकर बात करना जरूरी हो जाता है।'

Tags :

NEXT STORY
Top