जवानों की हालत दिखाता BSF जवान का वीडियो वायरल, राजनाथ सिंह ने मांगी रिपोर्ट

नई दिल्ली (9 जनवरी ): बीएसएफ का जवान बताने वाले तेज बहादुर यादव नाम के एक शख्स ने फेसबुक पर वीडियो शेयर कर अपने उच्च अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। जवान ने आरोप लगाया है कि सरकार की तरफ से भेजे जाने वाले राशन उनके वरिष्ठ अधिकारी बाजारों में बेच देते हैं और जवानों को कुछ नहीं मिलता।

उनका कहना है कि वे कठिन हालात में काम करते हैं, लेकिन उनकी यह व्यथा कोई नहीं दिखाता। तेज बहादुर ने साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूरे मामले की जांच की अपील की है। विडियो वायरल होने के बाद गृह मंत्री ने बीएसएफ से रिपोर्ट मांगी है। हालांकि, अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि तेज बहादुर बीएसएफ के जवान हैं या नहीं। वीडियो वायरल होने के बाद बीएसएफ ने भी मामले की जांच कराने की बात कही है।

खुद को बीएसएफ की 29वीं बटालियन का सदस्य बताते हुए तेज बहादुर ने फेसबुक पर तीन विडियो शेयर किए हैं, जिनमें मेस में बन रहे खाने को दिखाया है। उन्होंने वीडियो में बताया कि उन्हें मिलने वाला भोजन बेहद खराब होता है और कई बार जवान भूखे सो जाते हैं। वह वीडियो में कहते हैं, 'सरकार हमें हर चीज देती है, हर सामान भेजती है, लेकिन उच्‍च अधिकारी सब बेचकर खा जाते हैं, हमें कुछ नहीं मिलता। कई बार तो जवानों को भूखे पेट सोना पड़ता है।' उन्होंने कहा कि मैं यह वीडियो इसलिए दिखाना चाहता हूं ताकि लोग यह जान सकें कि अधिकारी हमारे साथ कितना अत्याचार और अन्याय करते हैं।

तेज बहादुर के इस वीडियो को अब तक फेसबुक पर 36 लाख लोगों से अधिक ने देखा है। इस वीडियो के वायरल होने के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी संज्ञान लिया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'मैंने बीएसएफ जवान से संबंधित विडियो देखा। मैंने गृह सचिव से कहा है कि वह बीएसएफ से रिपोर्ट लें और उचित कार्रवाई की जाए।'

इधर, बीएसएफ ने इन विडियो का संज्ञान लेकर जांच शुरू कर दी है। अर्धसैनिक बल के अधिकारिक अकाउंट से किए गए एक ट्वीट में कहा गया है, ‘बीएसएफ जवानों की देखभाल को लेकर बहुत संवेदनशील है। अगर कोई व्यक्तिगत अनियमितता है तो इसकी जांच की जाएगी। उच्च अधिकारी मौके पर पहुंचे चुके हैं।’

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=OwWjZ7xlRjU[/embed]