सऊदी में 'समलैंगिकों से है प्यार' हैशटैग हुआ वायरल

नई दिल्ली(9 फरवरी): कट्टरपंथी इस्लामिक कानूनों पर अमल करने वाले सऊदी अरब में समलैंगिकता एक गंभीर अपराध है। इसके बावजूद यहां LGBT समूह के प्रति समर्थन दिखाते हुए अरबी भाषा में एक हैशटैग वायरल हुआ।

- इस हैशटैग में लिखा था, 'मैं समलैंगिकों से प्यार करता हूं और मैं उनमें से एक नहीं हूं।' गुरुवार को यह हैशटैग सऊदी में टॉप ट्रेंडिंग रहा।



- सऊदी में बेहद सख्त शरीया कानूनों पर अमल किया जाता है। इन कानूनों के तहत, अगर कोई शादीशुदा शख्स या फिर कोई गैर-मुस्लिम किसी मुसलमान के साथ अप्राकृतिक सेक्स (गुदा मैथुन) करता है, तो उसे पत्थर मार-मारकर मौत के घाट उतारने की सजा दी जा सकती है।

- समलैंगिकता के अपराध में दूसरी बार दोषी पाए जाने वाले को मौत की सजा दी जा सकती है। पहली बार यह 'अपराध' करने पर जेल, कोड़े मारने और कुछ मामलों में मौत की भी सजा दी जा सकती है। इतने कट्टर माहौल में भी बड़ी संख्या में लोगों ने LGBT समुदाय के प्रति समर्थन जताया और इस हैशटैग को पूरे सऊदी का टॉप ट्रेंडिंग हैशटैग बनाया।

- @Q_Valour नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा, 'नफरत को अपने पूर्वजों के लिए छोड़ दो और विविधताओं को अपनाना सीखो। सेक्शुअल और नस्लीय अल्पसंख्यकों के साथ प्यार करना सीखो।' एक अन्य यूजर @ Stunggrll19 ने ट्वीट किया, 'अगर कुछ लोग अपने दिमाग खोल लें और यह स्वीकार करें कि समलैंगिक लोग इस खास तरह की यौन प्रवृत्तियों के साथ पैदा होते हैं। उन्होंने खुद के लिए यह चुना नहीं होता। सामान्यतौर पर मैं जितने लोगों को जानता हूं, उनमें समलैंगिक लोग सबसे बेहतर और अच्छे लोग होते हैं।'

एक तरफ जहां समलैंगिकों के प्रति समर्थन जताते हुए लोगों ने ट्वीट किए, तो वहीं दूसरी ओर कई यूजर्स ऐसे भी थे जिन्होंने इस ट्रेंड की आलोचना की। इन्होंने इस हैशटैग को अपने धर्म के लिए अपमानजनक बताया और समलैंगिकों के प्रति सहनशील बर्ताव दिखाने की भी निंदा की।