जो कभी मांग रहे थे जान की भीख, वो आज मार रहे हैं पत्थर!

नई दिल्ली (13 जुलाई): कश्मीर में हाल के घटनाक्रम के बाद जिस तरह हालात बदले हैं। वह काफी चिंता पैदा कर रहे हैं। हालात ऐसे हैं कि कभी भारतीय सेना ने अपनी जान की बिना परवाह किए कश्मीर में रह रहे जिन लोगों की जान बचाई थी, आज वहीं लोग सेना पर पत्थर बरसा रहे हैं। ऐसी कई बातें सोशल मीडिया से निकलकर सामने आ रही हैं, हालांकि न्यूज24 पूरी तरह इस बात का समर्थन नहीं करता क्योंकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

पिछले पांच दिनों से घाटी आतंक के साए में सुलग रही है। आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद कश्मीर में उग्रवादियों का प्रदर्शन जारी है। अब तक इस हिंसा में 32 लोगों की मौत हो चुकी है और 1400 से अधिक लोग घायल हुए हैं।    सोशल मीडिया से सामने आ रही अंदर की सच्चाई

इस बीच वहां के तनावपूर्ण माहौल की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। लोग कह रहे हैं कि कश्मीर के लोग उन दिनों को भूल गए है। जब अपनी जान बचाने के लिए उन्होंने सेना के आगे हाथ फैलाए थे। 2014 में कश्मीर में आई बाढ़ से लाखों लोग बेघर हुए थे। उस समय भारतीय सेना ने अपनी जान की बिना परवाह किए कश्मीरी लोगों की जान बचाई थी, और आज वहीं लोग है जो अब आतंकियों के लिए सेना पर पत्थर बरसा रहे हैं।    आतंकी की मौत के बाद प्रदर्शनकारियों ने कई रास्ते बंद कर दिए है। जिस कारण अमरनाथ यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं। प्रदर्शनकारी ने यात्रा के लिए जा रही गाडियों पर पत्थरबाजी की, इतना ही नहीं कुछ कश्मीरी युवकों ने यात्रियों को रोककर उनके साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया और उनकी बुरी तरह पिटाई की। कश्मीरी युवकों ने यात्रियों को धमकी दी कि अगर वे फिर अमरनाथ आए तो काट देंगे।