बीवी को तलाक देकर ओशो के आश्रम में रहने लगे थे विनोद खन्ना

मुंबई (27 अप्रैल): बॉलीवुड अभिनेता विनोद खन्ना का 70 साल की उम्र में निधन हो गया। लेकिन एक समय ऐसा भी था जब सफलता के शिखर पर रहते हुए 1982 में विनोद खन्ना ने अचानक ऐसा फैसला लिया कि फिल्म इंडस्ट्री में हड़कंप मच गया।


विनोद अपने आध्यात्मिक गुरु रजनीश (ओशो) की शरण में चले गए और ग्लैमर की दुनिया को उन्होंने बाय-बाय कह दिया। ओशा के आश्रम में इस सुपरस्टार ने बर्तन धोने और माली का काम किया।


- मां के निधन के बाद विनोद खन्ना काफी दुखी रहने लगे।

- इस दौरान विनोद खन्ना की मुलाकात ओशो से हुई।

- ओशो से वह इतना प्रभावित हुए कि उन्होंने अपने फ़िल्मी करियर से संन्यास ले लिया।

-  विनोद के अचानक इस तरह से चले जाने के कारण उनकी पत्नी गीतांजली नाराज हुई।

- दोनों के बीच तलाक हो गया। विनोद और गीतांजली के दो बेटे अक्षय और राहुल खन्ना हैं।

- इसके बाद वह अमेरिका जाकर ओशो के आश्रम में बस गए। ओशो ने उन्हें स्वामी विनोद भारती नाम दिया।