तेंदुलकर से दोस्ती और कोचिंग को लेकर ये बोले कांबली

नई दिल्ली(3 नवंबर): पूर्व क्रिकेटर विनोद कांबली और सचिन तेंदुलकर हाल ही में एक बुक लॉन्च के मौके पर मिले। दोनों के बीच बातचीत हुई और गले मिले। इस मुलाकात के बाद एक बार फिर चर्चा होने लगी है कि दोनों के बीच एक बार फिर दोस्ती होगी। 

- आपको बता दें तेंदुलकर और कांबली के बीच पिछले 8 साल से सबंध मधुर नहीं रहे हैं। ये तो हो गई तेंदुलकर से दोस्ती की बात। लेकिन कांबली एक चीज को लेकर और उत्साहित हैं। कांबली कोच बनना चाहते हैं। 

- एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में कांबली ने कहा कि मैंने कोचिंग देने का फैसला लिया है। आईपीएल में अगर किसी भी फ्रैंचाइजी को कोंचिंग देने का मौका मिलता है तो उसके लिए हम तैयार हैं। 

- कांबली ने कहा कि मैं ये भी सोच रहा हूं कि खुद का एक अकेडमी खोलूं। आपको बता दें तेंदुलकर और कांबली की दोस्ती में दरार 2009 में शुरु हुई थी। कांबली एक टीवी शो में थे, उनसे पूछा गया कि आपके व्यवहार में सुधार लाने के लिए क्या तेंदुलकर ने आपकी मदद नहीं की। तो कांबली ने इसका जवाब दिया, नहीं। 

- माना जाता है कि इसी के बाद से दोनों की दोस्ती में दरार आई।