यहां गांववालों ने 58 करोड़ की सड़क खुद 50 लाख में बनाई

झारखंड (22 जून): हमारे देश में नेता चुनावों के समय बडे़-बड़े वादे तो करते हैं, लेकिन जीतने के बाद शायद वह सबकुछ भूल जाते हैं। ऐसे ही लोगों को सबक सीखाने के लिए झारखंड के एक गांव में नेताओं के वादों से तंग खुद ही सड़क बना ली। ये मामला हजारीबाग जिले के लराही गांव का है।

यह भी दिलचस्प है कि गांववालों ने इस काम को पूरा करने में महज 50 लाख रुपए खर्च किए और सरकार इसी काम में 58 करोड़ रुपए खर्च कर देती। डेढ़ किमी इस सड़क को बनाकर गांववालों ने कोडरमा की दूरी भी 15 किमी कम कर दी। पहले कोडरमा जाने के लिए 45 किमी की दूरी तय करनी पड़ती थी। अब सिर्फ 30 किमी की दूरी तय करनी पड़ेगी।

लोगों ने इस सड़क को बनाने में श्रमदान और चंदे के पैसे से न सिर्फ डेढ़ किमी लंबी सड़क बनाई, बल्कि करीब 100 फीट चौड़ी कोयला नदी पर पुल भी बना दिया। सड़क-पुलिया बनाने में अहम रोल अदा करने वाले त्रिलोकी यादव ने बताया कि 1996 में नदी में नाव पलटी थी। इसमें छह लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद से ही गांववाले सड़क और पुल बनाने की मांग कर रहे थे। लेकिन नेताओं की ओर से सिर्फ आश्वासन ही मिलता रहा।

इस काम को करने के लिए 50 लोगों ने लगातार चार महीने तक काम किया। इस तरह ग्रामीणों ने सरकार की करीब 58 करोड़ का प्रोजेक्ट महज 50 लाख रुपए में पूरी कर दिया। इससे 20 से ज्यादा गांवों को फायदा मिलेगा। 28 फरवरी 2016 से यह काम शुरू किया गया था, करीब चार माह में ही 85 पर्सेंट काम पूरा कर अपनी एकता की ताकत दिखाई।