दिल्ली के इस इलाके में गैंगवार के खौफ की वजह से घरों में कैद हैं लोग

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 जून): देश की राजधानी दिल्ली से बेहद ही चौकाने वाली खबर सामने आ रही है। बाहरी दिल्ली के ताजपुर कलां गांव के तमाम लोगों ने खुद को अपने घरों में कैद कर लिया है। अधिकतर लोग या तो घरों के अंदर ही रहते हैं या फिर अस्थायी तौर पर पलायन कर लिया है। गौरतलब है कि सोमवार को उत्तरी दिल्ली के संत नगर में 16 साल के मुकुल की 18 गोलियां मारकर जघन्य हत्या किए जाने के बाद से गांव में दहशत का माहौल है। किशोर मुकुल की इसलिए हत्या कर दी गई क्योंकि वह जितेंद्र गोगी गैंग के प्रतिद्वंद्वी गैंग के सुनील बालयान उर्फ टिल्लू का भतीजा था।जानकारी के लिए आपको बता दें कि गांव के किनारे पर ही गैंगस्टर टिल्लू का घर है, जिसका बरसों से जितेंद्र गोगी गैंग से विवाद रहा है। बीते दो सालों से वह सोनीपत जेल में बंद है, लेकिन दोनों गैंगों के बीच खूनी रंजिश जारी है। परिवार को सुरक्षा का डर सता रहा है। गांव में प्रवेश करते ही एक गड्ढा इस तरह से खोद दिया गया है ताकि कोई भी अज्ञात वाहन रुक जाए। यही नहीं टिल्लू के घर की तरफ जाने वाली गली पर करीब आधा दर्जन सीसीटीवी कैमरे लगे हैं और 10 सुरक्षा गार्ड हमेशा पट्रोलिंग पर रहते हैं।टिल्लू के परिवार के लोगों का कहना है कि मुकुल के सीने में 18 गोलियां उतारकर गोगी ने हदें पार कर दी हैं। बुधवार को टिल्लू के एक पारिवारिक मित्र ने कहा, 'यह रंजिश अब गोगी की मौत के बाद ही खत्म होगी। मुकुल एक बच्चा था। आखिर उसका क्या अपराध था?' टिल्लू के सभी साथियों, परिवार के लोगों और दोस्तों ने मुकुल की तस्वीर को अपनी वॉट्सऐप प्रोफाइल में लगा रखा है।