विजय माल्या प्रत्यर्पण मामले में लंदन कोर्ट 10 दिसंबर को सुनाएगा फैसला


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 12 सितंबर ): लंदन की एक अदालत भगोड़ा घोषित किया जा चुका विजय माल्या के प्रत्यर्पण मामले में 10 दिसंबर को अपना फैसला सुनाएगी। रिपोर्ट के मुताबिक इसे फैसले के बाद तय होगा कि विजय माल्या को ब्रिटेन से भारत प्रत्यर्पित किया जा सकता है या नहीं। विजय माल्या बुधवार को मामले की सुनवाई के लिए लंदन की अदालत में पेश हुआ था। किंगफिशर एयरलाइन के 62 वर्षीय प्रमुख पिछले साल अप्रैल में जारी प्रत्यर्पण वारंट के बाद से जमानत पर है। उसपर भारत में करीब 9000 करोड़ रूपये के धोखाधड़ी और धनशोधन के आरोप हैं। 

माल्या के खिलाफ लंदन कोर्ट में प्रत्यर्पण का यह मामला पिछले साल 4 दिसंबर को शुरू किया गया। इसका मकसद माल्या के खिलाफ धोखाधड़ी का पहला मामला पेश करना है। वहीं कर्नाटक हाई कोर्ट ने 13 भारतीय बैंकों को माल्या से करीब 1.145 अरब पाउंड (करीब 107.49 अरब रुपये) की धनराशि वसूल करने का आदेश दिया था। अलग-अलग कानूनी कार्यवाहियों में माल्या हाई कोर्ट के इस आदेश के खिलाफ ब्रिटिश अपीलीय अदालत में अपनी याचिका हार चुका है। हाई कोर्ट ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की अगुआई वाले कंसोर्टियम के पक्ष में आदेश दिया था, जिसमें दुनियाभर में माल्या की संपत्तियों को जब्त करने पर जोर दिया गया था। 

भगोड़े विजय माल्या के देश छोड़ने से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात वाले बयान पर सियासत तेज हो गई है। माल्या के इस दावे को लेकर कांग्रेस ने बुधवार को सरकार पर हमला बोला और कहा कि इस पूरे मामले की जांच होनी चाहिए। पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि माल्या के बारे में सब कुछ पता होने के बावजूद उसे देश के बाहर क्यों जाने दिया गया?