आसमां से ऐसे जमीं पर आ गए विजय माल्‍या

दयाकृष्ण चौहान, नई दिल्ली (8 मार्च): विजय माल्या का नाम सुनते ही जो सबसे पहली तस्वीर लोगों के जहन में बनतीं है, वो ऐसे शख्स की होती है जो लड़कियों से घिरा होता है। हालांकि इस समय वह सबसे बड़ी आफत में हैं और भारत के सबसे कर्जदार व्यक्ति है।

विजय माल्या को देश के कई बड़े बैंको ने डिफाल्टर घोषित कर दिया है और डेट रिकवरी ट्रिब्यूनल ने बड़ा झटका देते हुए डिआजियो से उन्हें मिलने वाली तकरीबन 515 करोड़ रुपये की रकम भी फ्रीज कर दी है। यही नहीं कुछ बैंकों ने कोर्ट से यह भी गुहार लगाई है कि वह माल्या के देश से बाहर जाने पर रोक भी लगाए।

कहां से शुरू हुए बुरे दिन: 2005 में माल्या ने किंगफिशर एयरलाइंस की स्थापना की। तीन-चार साल सबकुछ ठीकठाक चला, लेकिन 2009 में एयरलाइंस को 418.77 करोड़ का घाटा हुआ। इसके चलते 100 पायलट को निकाला गया। सिल्वरस्टोन की ग्रांड प्रिक्स टीम को 2007 में विजय माल्या ने 88 मिलियन पौंड में खरीदा। 2014 आते-आते किंगफिशर की उड़ान पर पूरी तरह ब्रेक लगा गया।

बनाया था यह रिकॉर्ड: विजय माल्या एक समय में दुनिया में सबसे बड़ी शराब कंपनी के चेयरमैन थे। उनकी कंपनी यूनाइटेड स्प्रिट्स लिमिटेड ने 114 मिलियन केसेज बेचने का ऐतिहासिक रिकॉर्ड स्थापित किया था। लेकिन किंगफिशर एयरलाइंस में हुए घाटे के कारण उन्हें इसका चेयरमैन पद छोड़ना पड़ा और डीयाजियो से 510 करोड़ रुपए लेकर उन्होंने कंपनी के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया।

इसलिए हैं मशहूर माल्या अपने रंगीन मिजाज के लिए मशहूर हैं। उन्हें लग्जरी कारों का भी बेहद शौक है। माल्या के पास 250 से ज्यादा लग्जरी और विटेंज कारें हुआ करती थीं।

माल्या ने की थी दो शादी विजय माल्या ने पहली शादी समीरा से की जिसके उनका एक बेटा सिद्धार्थ है। कुछ ही सालों के बाद माल्या ने समीरा से तलाक लेकर बैंगलोर में उनके पड़ोस में रहने वाली रेख माल्या से शादी कर ली, जिससे उनकी दो बेटियां पुत्री लीना और तान्या माल्या हैं।

कैसे बने लिकर किंग विजय माल्या का जन्म 18 दिसंबर 1955 को पश्चिम बंगाल के कोलकाता में हुआ था। विजय माल्या की स्कूली पढ़ाई कोलकाता के लॉ मास्टीने स्कूल से हुई और सेंट जेवियर कॉलेज से बीकॉम की पढ़ाई पूरी की। इसी दौरान वे घरेलू बिजनेस में भी हाथ बंटाने लगे। माल्या ने यूएएस के दक्षिणी कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। पिता की मौत के बाद विजय माल्या यूनाइटेड ब्रेवरीज कंपनी के मालिक बन गए।