माल्या के बाद संजय भंडारी भी देश छोड़कर भागा

नई दिल्ली (20 फरवरी): विजय माल्या के बाद एक और डिफाल्टर आर्म्स डीलर संजय भंडारी देश छोड़कर भाग निकला है। संजय भंडारी देश की कई जांच एजेंसियों के रडार पर था। सरकारी सूत्रों को आशंका है कि संजय भंडारी नेपाल के रास्ते लंदन भाग गया है।

बता दें कि जून में ब्रिटिश एयरवेज से लंदन भाग रहे संजय भंडारी को रोक लिया गया था। अप्रैल में संजय भंडारी के घर और दफ्तर पर इनकम टैक्स के छापे के दौरान सुरक्षा से जुड़े गोपनीय दस्तावेज बरामद हुए थे। उसके बाद अक्टूबर में दिल्ली पुलिस ने भंडारी पर सरकारी गोपनीयता कानून की धारा 3 और 5 के तहत आरोप लगाए थे।

सूत्रों के अनुसार भारतीय बिजनैसमेन्स के लिए लंदन सबसे सुरक्षित और आरामदायक शहर बन गया है। इससे पहले मार्च में इनकम टैक्स की चोरी करने के बाद विजय माल्या सरकार की आंखों में धूल झोंककर लंदन भाग गया था। लंदन में भारतीय व्यापारी आसानी से निवासी परमिट भी ले रहे हैं।

57 भारतीय डिफॉल्टर भाग चुके हैं लंदन

संजय भंडारी उन 57 भारतीय व्यापारियों में से एक बन गया है जिन पर जांच एजेंसियों की नजर है और जो आसानी से ब्रिटेन में रह रहे हैं। इनकम टैक्स की जांच-पड़ताल में 27 अप्रेल को संजय भंडारी के घर पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा से जुड़े ईमेल मिले थे। बाद में रॉबर्ट वाड्रा के वकीलों ने इन आरोपों को ठुकरा दिया था। सूत्रों ने बताया कि भंडारी पहले भी इनकम टैक्स विभाग के दोषी पाए गए हैं।

बेनामी संपत्ति को लेकर इनकम टैक्स की रडार पर था भंडारी

संजय भंडारी की दुबई और लंदन में दो प्रॉपर्टीज हैं। टैक्स रिटर्न में इन संपत्तियों का जिक्र नहीं किया गया है। आर्म्स डीलर संजय भंडारी की संपत्ति और कंपनियों को लेकर जांच की जा रही है। भंडारी के वित्त मंत्रालय से जुड़े उच्च अधिकारियों से खास रिश्ते थे। ये अधिकारी पिछले साल रिटायर हो गए हैं। इसके अलावा भंडारी इंडियन एयरफोर्स बेसिक ट्रेनर एयरक्राफ्ट परचेज से जुड़ी 4 हजार करोड़ की डील में भी शामिल थे। ये डील 2012 में यूपीए सरकार के दौरान हुई थी।