चीन को टक्कर देने के लिए तैनात किए रॉकेट लॉन्चर

नई दिल्ली (10 अगस्त): साउथ चाइना सी पर विवाद और भी ज्यादा बढ़ता जा रहा है। चीन द्वारा विवादित सीमा में शिप उतारने के बाद वियतनाम ने न्यू मोबाइल लॉन्चर्स को तैनात किया है। इसमें चीनी रनवेज और मिलिटरी ताकतों को जवाब देने की क्षमता है।

खुफिया सूचना से साफ पता चलता है कि हनोई ने द्वीपों पर लॉन्चर्स भेजे हैं। हाल के महीनों में वियतनामी मुख्य भूमि पर स्प्रैटली आइलैंड्स में पांच ठिकानों पर यह कदम उठाया गया है। वियतनाम के इस कदम से पेइचिंग और हनोई के बीच तनाव और बढ़ने की आशंका है। ये लॉन्चर्स हवाई निगरानी के दायरे से बाहर के हैं। हालांकि इन्हें अभी हथियारों से लैस किया जाना बाकी है, लेकिन इन्हें दो-तीन दिनों के भीतर रॉकेट आर्टिलरी के जरिए ऑपरेशनल बनाया जा सकता है।

वियतनाम के रक्षा मंत्री सीनियर लेफ्टिनेंट-जनरल नग्युयेन ची विन्ह ने जून महीने में कहा था, 'हनोई के पास स्प्रैटली द्वीप पर तैनात करने के लिए कोई लॉन्चर्स और हथियार तैयार नहीं हैं, लेकिन हम ऐसा करने का अधिकार रखते हैं। हमारे पास यह प्रासंगिक अधिकार है कि हम अपनी आत्मरक्षा कर सकें। हम अपनी संप्रभुता की रक्षा के लिए किसी भी वक्त कोई भी कदम उठाने के लिए स्वतंत्र हैं।'

वियतनाम का यह कदम स्प्रैटली द्वीपसमूह पर चीनी दावे और उसके सैन्यीकरण का जवाब माना जा रहा है। वियतनाम मिलिटरी स्ट्रैटिजीस्ट साउथ चाइना सी में कोई आक्रामक गतिविधि को अंजाम देने से डर रहे हैं। वियतनाम रवनेज और अन्य तरह की मिलिटरी स्थापनाओं को लेकर आशंकित है। वियतनाम इस कदम को काफी जोखिम भरा मानता है।