पुलिस ने नहीं की मदद, परिवार को 40 दिन बाद मिला बेटी के रेप का विडियो

पीलीभीत (6 जनवरी): उत्तर प्रदेश में रेप और अपहरण के लगातार बढ़ रहे घटनाओं ने पुलिस और प्रशासन की नाकामी का पोल खोल कर रख दिया है। बात 40 दिन पहले की है जब पीलीभीत की 25-26 साल की एक लड़की को अगवा कर लिया गया। जब परिवार ने इसकी शिकायत थाने में की तो पुलिस ने रिपोर्ट तक दर्ज नहीं की। वारदात के 40 दिन बाद इस परिवार के पास उनकी ही बेटी का MMS पहुंचा है। इस वीडियो में लड़की के साथ हुए सामूहिक बलात्कार को दिखाया गया है।

वीडियो मिलने के बाद परिवार एक बार फिर पीलीभीत के एसपी जवाहर कुशवाह के पास मदद की गुहार लगाई है। इसके बाद कुशवाह ने इस पर जल्द से जल्द कार्रवाई के आदेश दे दिया है। यह वीडियो केवल पीड़िता के साथ हुए अपराध का ही सबूत नहीं है बल्कि उत्तर प्रदेश पुलिस और प्रशासन की लापरवाही का भी सबूत है।

क्या बोले पीड़िता के पिता पीड़िता के पिता ने बताया कि हमे अपहरण के 40 दिन बाद यह वीडियो मिला है। इस सच को जानने के बाद हमारे लिए यह तकलीफ बर्दाश्त करना नामुमकिन है। अगर पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लिया होता तो शायद यह सब नहीं होता।

पुलिस ने क्या कहा पीलीभीत के एसपी जवाहर कुशवाह ने बताया कि मामले को गंभीरता से लेते हुए एक टीम को बरेली भेजा है। शहर के सर्कल अधिकारी इस मामले की जांच कर रहे हैं। जिस मोबाइल नंबर से पीड़ित परिवार को विडियो भेजा गया था, उसका पता लगा लिया गया है और अब हमारी टीम उसके लोकेशन का पता लगा रही है। हमें उम्मीद है कि हम अगले 2 दिन के अंदर पीड़िता को खोज लेंगे।

23 नवंबर को हुआ था अपहरण पीड़िता का अपहरण 23 नवंबर 2015 को हुआ था। बदांयू आते समय बरेली में किसी जगह उसका अपहरण किए जाने की आशंका जताई जा रही है। यह विडियो क्लिप पीड़िता की छोटी बहन को वॉट्सऐप के द्वारा भेजा गया था। इसके बाद परिवार ने पुलिस को इसके बारे में बताया।