VIDEO: कोई निकाल रहा है जूस तो कोई सिल रहा है जूते, देखिए नेताओं के 'सियासी स्टंट'

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (16 अप्रैल): चुनावों में नेता वोट के लिए क्या नहीं करते। कोई ठेले पर गन्ने में सियासी मिठास ढूंढ़ रहा है। कोई सियासी पकौड़े तल रहा है। तो कोई सियासी धागे से जूता सिल रहा है। ऐसी ही कुछ तस्वीरें सामने आई हैं अमेठी, जोधपुर और जयपुर से। जहां ये नेता कुछ अजब गजब करते नज़र आए।देखिए न्यूज 24 की ये खास रिपोर्ट...

पहली तस्वीर यूपी के अमेठी की है। जहां केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी गर्मी के मौसम में गला सूखा तो ऐसी गाड़ी से केंद्रीय मंत्री बाहर निकली और गन्ने के जूस के ठेले पर पहुंच गईं। आस-पास लोगो की भीड़ इक्टठा हो गई। मंत्री जी मशीन से गन्ने के निकलते जूस के देख रही थीं और भीड़ मंत्री जी को लोगों के लिए ये चौकाने वाली बात थी और मंत्री जी के लिए ज़मीन से जुड़े लोगों के दिल में जगह बनाने का मौका। बीच में बीच में स्मृति ईरानी जूस निकलाने वाले शख्स से बात करती और ठहाके लगाती हुई नज़र आईं। गर्मी तो हर साल आती है। इस साल भी आई है। इस जूस वाले के पास ग्राहक तो रोज़ आते है लेकिन ऐसी शाही ग्राहक पहली बार आए थे।

पहले राजाओं की अपनी नीति होती थी। युद्ध जीतो और राज करो लेकिन अब समय बदला तो सियासत भी बदल गई है। अब दिल जीतो और राज करो। इसी दिल जीतने की कवायद में राजघराने की पूर्वी राजकुमारी सियासी पकौड़े तलती नजर आईं। हालांकि पकौड़ा पहले से ही बीजेपी का हिस्सा है। लेकिन ये पकौड़े कोई आम पकौड़े नहीं है। ये तो सियासत की आंच पर तले जा रहे वो पकौड़े हैं जो जिनको वोटो में तब्दील करने की कोशिश की जा रही है। दिया कुमारी इस बार राजसमंद लोकसभा सीट से बीजेपी उमीदवार हैं जो जैतारण में चुनाव प्रचार करने पहुंची थी। लेकिन अब जनता को इन सियासी पकौड़ो का स्वाद किताना पसंद आएगा ये चुनाव के बाद ही पता चलेगा।

ये जूता है चुनावी और इसमें सिलाई है सियासी। तस्वीरें राजस्थान के जयपुर की है। जहां केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर में जूता लिए हुए हैं। पहले केंद्रीय मंत्री कुछ देर जमीन पर बैठ कर बात करते रहे। फिर उन्होने अपने बराबर बैठे बुजुर्ग मोची जूता लिया और उसे सिलने लगे। बीच बीच में बुजुर्ग मोची मंत्री जी को बताता रहा और मंत्री जी अपनी सियासी सिलाई से जूते को मज़बूत कर रहे थे। सथ ही मज़बूत कर रहे थे उस रिश्ते को जिसे इस सियासी धागे से सिया जा रहा था।