VHP में तोगड़िया 'युग' खत्म, विष्णु सदाशिव कोकजे बने नए अध्यक्ष

नई दिल्ली (15 अप्रैल): विष्णु सदाशिव कोकजे विश्व हिंदू परिषद के नए अध्यक्ष बन गए हैं। गुरुग्राम में भारी सुरक्षा बलों के बीच बैलेट पेपर से हुए वोटिंग में वीएचपी के नए अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष हिमाचल प्रदेश के पूर्व गवर्नर एवं मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के पूर्व जज विष्णु सदाशिव कोकजे को चुना गया। वहीं VHP के 52 साल के इतिहास में हुए पहले चुनाव में प्रवीण तोगड़िया को बड़ा झटका लगा है। प्रवीण तोगड़िया और राघव रेड्डी को हार का समाना करना पड़ा है। 

प्रवीण तोगडिय़ा समर्थक राघव रेड्डी की तगड़ी हार हुई। उन्हें सिर्फ 60 वोट मिले, जबकि जस्टिस सदाशिव को 131 वोट मिले हैं। एक वोट निरस्त कर दिया गया। चुनाव के बाद प्रवीण तोगडिय़ा ने वीएचपी छोडने के साथ 17 अप्रैल से अहमदाबाद में उपवास करने का ऐलान कर दिया। चुनाव के बाद प्रवीण तोगडिय़ा ने बिना किसी के नाम लिए कहा कि सत्ता के मदमस्त लोगों ने हटाने के लिए षड्यंत्र रचा। इससे उनकी आवाज नहीं दबेगी। वहीं, वीएचपी के संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र कुमार जैन ने कहा कि यह संगठन लोकतंत्र में विश्वास करता है। इसलिए संगठन ने चाहा तो लोकतांत्रिक तरीके से मतदान कराए गए। हालांकि प्रवीण तोगडिय़ा के बाहर जाने पर कुछ भी नहीं कहा।

कोकजे ने अपनी टीम में अंतरराष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में आलोक कुमार एडवोकेट, कार्याध्यक्ष (विदेश विभाग) के लिए अशोकराव चैगुले, महामंत्री के लिए मिलिन्द पराण्डे, संगठन महामंत्री के लिए विनायक राव देशपाण्डे, नए उपाध्यक्ष के लिए चंपत राय और एक नए संयुक्त महामंत्री के लिए कोटेश्वर राव को बनाए गए।