राम मंदिर के लिए केंद्र सरकार जल्द लाएगी बिल या फिर अध्यादेश- बीजेपी सांसद


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (9 दिसंबर): पश्चिमी दिल्ली से बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया है। बीजेपी सांसद प्रवेश सिंह वर्मा ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट का रवैया टालने वाला है, इसलिए सरकार राम मंदिर के लिए बिल या फिर अध्यादेश लेकर जल्द आएगी। आपको बता दें कि 2019 आम चुनाव से पहले बीजेपी और केंद्र सरकार पर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर संघ, वीएचपी के साथ-साथ अन्य हिंदू संगठनों का भारी दवाब है। इसी कड़ी में वीएचपी आज दिल्ली के रामलीला मैदान में एक विशाल धर्म संसद का आयोजन कर रहा है। जिसने लाखों की तादात में राम भक्तों के आने का दावा किया जा रहा है। विश्व हिंदु परिषद के उपाध्यक्ष चंपत रायल का कहना है कि हमने एक बार फिर से राम मंदिर निर्माण को लेकर अपने इरादे साफ कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि जो लोग ये सोचते है कि ये मुद्दा खत्म चुका है, उनका ये भ्रम टूटना चाहिए। क्योंकि जो हिंदु समाज की प्रथमिकता है वही हिंदुस्तान की प्राथमिकता है।



संसद के शीतकालीन सत्र शुरू होने के ठीक दो दिन पहले अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए अध्यादेश लाने की मांग को लेकर विश्व हिंदू परिषद  की दिल्ली के रामलीला मैदान में धर्मसभा करने जा रही है। वीएचपी का दावा है कि संसद के आगामी सत्र में विधेयक पेश किया जाएगा, जिससे राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा। वीएचपी के महासचिव सुरेंद्र जैन का दावा है कि इस धर्मसभा से उन लोगों का हृदय परिवर्तन होगा जो मानते हैं कि संसद के शीतकालीन सत्र में राम मंदिर पर विधेयक लाना संभव नहीं है।  सुरेंद्र जैन का कहना है कि यदि किसी वजह से शीतकालीन सत्र में राम मंदिर को लेकर विधेयक नहीं आता है, तो प्रयाग में होने वाले महाकुंभ में होने वाली आगामी धर्म संसद में भविष्य की रणनीति तय होगी। आपको बता दें कि महाकुंभ में 31 जनवरी से 1 फरवरी तक दो दिवसीय धर्म संसद होनी हैं जिसमें राम मंदिर समेत कई अन्य मुद्दों पर धर्मादेश जारी होगा।  



गौरतलब है कि अयोध्या धर्म संसद से सैकड़ों किलोमीटर दूर स्थित राजस्थान के अलवर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और महाराष्ट्र के नागपुर में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने भी राम मंदिर से संबंधित बयान दिए थे। लोकसभा में कर्नाटक के धारवाड़ से पार्टी सांसद प्रह्लाद वेंकटेश जोशी और राज्यसभा में मनोनीत सदस्य राकेश सिन्हा की ओर से तैयार प्राइवेट मेंबर्स बिल्स को भी इसी का हिस्सा माना जा रहा है। हालांकि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने का कहन है कि अयोध्या पर कोई भी निर्णय सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ही होगा।


ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये रिपोर्ट...