सऊदी अरब में बहुत मुश्किल है महिलाओं की जिंदगी...!

नई दिल्ली (25 सितंबर): सऊदी अरब में कट्टरपंथी समाज और नियम-कायदों के तहत महिलाओं के लिए जिंदगी बहुत मुश्किल है। एक सिंगल औरत के लिए या फिर हसबैंड की मौत या तलाक के बाद एक मर्द से ज्यादा महिलाओं को मुश्किल है। पुरुष गार्जियन के बिना घर से निकलने से लेकर बाहर के सभी काम रुक जाते हैं।

सऊदी की वेडिंग फोटोग्राफर तस्नीम अलसुल्तान ने सऊदी में अपने एक प्रोफेशनल प्रोजेक्ट के जरिए इसे दिखाने की कोशिश की है। तस्नीम खुद भी तलाकशुदा हैं, अपनी दो बेटियों और पेरेट्स के साथ रह रही हैं।  जेद्दा में रहने वाली माए की है, जिन्होंने अपनी वेडिंग ड्रेस पहन रखी है। फोटो के पीछे बैकग्राउंड में उनका बेटा दिख रहा है। माए ने डेन्टल स्कूल में अपने क्लास मेट से शादी की थी। दो बच्चों के साथ वो अपनी मैरिड लाइफ से बहुत खुश थीं। वो अपना घर खरीदने की तैयारी में ही थे कि दो दिन पहले एक्सीडेंट में हसबैंड की मौत हो गई। इसके बाद मां के पिता की मौत हो गई। मेल पेरेंट्स बनने के लिए अब वो अपने बेटे के 16 का होने का इंतजार कर रही हैं।