जानें, BJP के संकट मोचक रहे वेंकैया नायडू अबतक का सियासी सफर

नई दिल्ली (18 जुलाई): बीजेपी ने पार्टी के संकटमोचक रहे वरिष्ठ नेता वेंकैया नायडू को उप-राष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है। वेंकैया नायडू मोदी सरकार के सबसे वरिष्ठ मंत्रियों में से एक हैं और वो दक्षिण भारत के सबसे पुराने BJP नेताओं में से एक हैं। इसके साथ ही वो 2002 से 2004 के बीच BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रहे चुके हैं।

NDA के उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार वेंकैया नायडू का जन्म 1 जुलाई 1949 को आंध्र प्रदेश के नेल्लौर जिला में हुआ था। वेंकैया अपने कॉलेज के दौर से ही राजनीति में सक्रिय रहे। 1973-74 में आंध्र विश्वविद्यालय में छात्रसंघ अध्यक्ष रहे। 1988 से 1993 के दरमियान आंध्र प्रदेश BJP के अध्यक्ष रहे।

आपतकाल के दौरान वो जयप्रकाश नारायण के आंदोलन से जुड़े थे और उस समय वो जेल भी गये। 1978 और 1983 में नेल्लौर से विधायक चुने जाने के बाद वो पहली बार 1998 में राज्यसभा सांसद बने। अभी वो राजस्थान से राज्यसभा सांसद हैं और मोदी सरकार में उनकी भूमिका एक संकटमोचक नेता की है।

आपको बता दें कि 27 मई 2014 से 5 जुलाई 2016 तक वेंकैया मोदी सरकार में संसदीय कार्यमंत्री रहे। फिलहाल वो शहरी विकास और सूचना प्रसारण मंत्री हैं। खास बात ये है कि वेंकैया 4 बार से राज्यसभा के सांसद हैं।