अपने घर के मुख्य दरवाजे पर लगाएं ये चीज, कभी नहीं होगी धन की कमी

Image credit: Google


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 18 नवंबर ): वास्तु शास्त्र में कई ऐसी बातें बताई गई है जिससे लोगों के घर में सुख और शांति आती है। मां लक्ष्मी जी कृपा बनी रहती है और आर्थिक संकट दूर होते हैं। शास्त्रों के मुताबिक घर के मुख्य द्वार पर शुभ धार्मिक चिन्ह बनाने से सुख-समृद्धि का आगमन होता है। इसके अतिरिक्त वास्तु के अनुसार कुछ ऐसे चिन्हों का उल्लेख किया गया है जो घर की सारी चिंताओं से मुक्ति दिलाने में सहायता करते हैं। घर के मुख्य द्वार पर स्वस्तिक, ॐ, श्रीगणेश, शुभ-लाभ आदि चिन्हों को बनाने से घर में सुख-शांति और समृद्धि बनी रहती है।

Image credit: Google

आज हम आपको कुछ ऐसी चीजें बताने जा रहे हैं जिससे आपके घर में मौजूद नकारात्मक ऊर्चा कम होगी और सकारात्मकता बनी रहेगी।

Image credit: Google

- सबसे पहले घर के मुख्य द्वार पर गणेशजी के चिह्न स्वस्तिक और शुभ-लाभ लगाना चाहिए। इनके शुभ असर से घर में बरकत बनी रहती है। स्वस्तिक का चिह्न बनाने से नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है इसलिए प्रत्येक त्यौहार पर घर के मुख्यद्वार पर सिंदूर से शुभ-लाभ का चिन्ह बनाया जाता है।


- घर में देवी लक्ष्मी की कृपा बनी रहे इसके लिए लक्ष्मीजी की फोटो दरवाजे पर लगा सकते हैं। लक्ष्मीजी की फोटो से अलक्ष्मी भी घर से दूर रहती है। आप चाहें तो प्रवेश द्वार पर लक्ष्मीजी और कुबेरदेव की फोटो लगा सकते हैं

- दरवाजे के नीचे लक्ष्मीजी के चरण चिह्न लगाएं। लक्ष्मीजी के पैरों के चिह्न लगाने से घर में सुख-समृद्धि आती है

-  घर का मुख्यद्वार दक्षिण मुखी हो तो दरवाजे पर पंचमुखी हनुमानजी का चित्रपट लगाना शुभ होता है।

- घर में सकारात्मक ऊर्जा आती रहे, इसके लिए दरवाजे पर वंदनवार लगाएं। वंदनवार अशोक के पत्तों से आम या पीपल के पत्तों से बना सकते हैं। अगर आप चाहें तो फूलों की माला बनाकर भी दरवाजे पर लगा सकते हैं। इससे नकारात्मकता घर से दूर रहती है

- घर के दरवाजे के आसपास कांच का सुंदर फ्लॉवर पॉट रखें। इस पॉट में ताजे फूल रखना चाहिए। फूलों की महक से द्वार के आसपास सकारात्मकता बढ़ती है।

- घर के मेन गेट के सामने पौधा या वृक्ष होना शुभ नहीं होता। ये पारिवारिक सदस्यों की खुशियों के आगमन में अवरुद्ध पैदा करते हैं।

- घर का मुख्य द्वार या अन्य खिड़की-दरवाजे खोलते समय आवाज न करें। आवाज करने वाले द्वार शुभ नहीं माने जाते। इससे घर में क्लेश रहता है।