'UP में चपरासी-स्वीपर पदों के लिए आवेदन करने को मजबूर हैं MA, PhD धारक'

नई दिल्ली (28 फरवरी): बीजेपी नेता वरुण गांधी ने शनिवार को उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य में बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। यहां तक कि हालत यह हो गई है कि स्नातक और पीएचडी धारकों को सफाईकर्मी और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के पदों के लिए आवेदन करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

मीडिया में आई रिपोर्ट के मुताबिक, वरुण गांधी ने अमरोहा नगर निगम की ओर से सफाई कर्मचारी पदों के लिए आवेदन के लिए निकाले गए विज्ञापन का जिक्र करते हुए यह दावा किया। उन्होंने कहा 1,9000 आवेदकों में ज्यादातर स्नातक और स्नातोकोत्तर हैं। उन्होंने कहा कि यहां तक कि पीएचडी धारकों ने भी सचिवालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के पदों के लिए आवेदन किया है।

गांधी ने एक निजी प्रबंधन संस्थान का हवाला देकर कहा, "बढ़ती बेरोजगारी ने उच्च शैक्षणिक योग्ताआ वाले लोगों को भी ऐसे छोटे पदों के लिए आवेदन करने के लिए बाध्य कर दिया है क्योंकि राज्य में नौकरी के अवसर नहीं हैं।" उन्होंने कहा कि "नौकरशाही, लालफीताशाही और बढ़ती अपराध दर राज्य में उद्योगों के लगाये जाने के रास्ते में बड़ी रुकावटें हैं। उत्तर प्रदेश सरकार अन्य राज्यों की तुलना में घरेलू और विदेशी निवेशकों को आकर्षित करने में विफल रही है।"

*फाइल फोटो