काशी बोले नमो-नमो: रुझानों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी से एक लाख वोटों से आगे

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 मई): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संसदीय सीट वाराणसी में चौथे राउंड की गिनती के बाद पीएम मोदी एक लाख 20 हजार वोटों से आगे चल रहे हैं। माना जा रहा है कि गुरुवार देर शाम तक नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे। वाराणसी सीट पर दुनियाभर की मीडिया की नजरें टिकीं हुई हैं। इस सीट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार दूसरी बार मैदान में हैं। पीएम मोदी को मात देने के लिए कांग्रेस ने अजय राय और समाजवादी पार्टी ने शालिनी यादव को टिकट दिया है। इस तरह वाराणसी में प्रधानमंत्री के खिलाफ त्रिकोणीय मुकाबले के आसार हैं।

वाराणसी में इस बार 56.97 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया है जो वर्ष 2014 की अपेक्षा दो प्रतिशत कम है। पिछले चुनाव में यहां पर 58.35 प्रतिशत वोटिंग हुई थी। 2014 में नरेंद्र मोदी को इस सीट से 5 लाख 81 हजार वोट मिले थे। मोदी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी अरविंद केजरीवाल को करीब पौने चार लाख वोटों से हराया था। अजय राय तीसरे स्‍थान पर रहे थे। राय को करीब 76 हजार वोट मिले थे।

वर्तमान में करीब 18 लाख वोटर और 34 लाख जनसंख्या वाले इस संसदीय क्षेत्र से पीएम नरेंद्र मोदी सांसद हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में एसपी और बीएसपी मिलकर भी इस सीट पर कुल सवा लाख वोट के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच सके थे। कहा जाता है कि मोदी को हराने के लिए मुस्लिम वोटों का एकजुट रुझान केजरीवाल की ओर हो गया था, जिसके कारण केजरीवाल को सियासी फायदा भी हुआ था। 2009 के समीकरणों पर गौर करें तो बीएसपी और एसपी के कुल वोटों की संख्या बीजेपी के प्रत्याशी मुरली मनोहर जोशी को मिले वोट से ज्यादा थी।

आंकड़ों पर गौर करें तो 1991 के बाद हुए सात चुनावों में 6 में बीजेपी ने जीत हासिल की है। 1991 में यहां से बीजेपी के श्रीशचंद्र दीक्षित जीते थे। बाद में शंकर प्रसाद जायसवाल बीजेपी के टिकट पर तीन बार (1996, 1998, 1999 ) चुनाव जीतकर संसद पहुंचे। सिर्फ 2004 में इस सीट पर कांग्रेस के राजेश मिश्रा ने जीत हासिल की थी। लेकिन फिर 2009 में बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने यह सीट कांग्रेस से छीन ली जिस पर 2014 के चुनाव में नरेंद्र मोदी ने रेकॉर्ड मतों से जीतकर कब्जा जमाया।