नौ साल बाद घर लौटे पुलिस अफसर का हीरो की तरह स्वागत, किया तलवार डांस

नई दिल्ली (8मार्च): नौ साल बाद गुजरात पहुंचे पूर्व आईपीएस डीजी वंजारा का अहमदाबाद एयरपोर्ट पर हज़ारों ने भव्य स्वागत किया। इसके बाद उनके सम्मान में गांधी नगर में एक कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें उन्होंने कबीलाई परंपरा के अनुसार तलवार डांस में भी हिस्सा लिया। वंजारा ने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि एक दिन सच सब के सामने आएगा।

डेविड हेडली की गवाही के बाद साफ हो गया है कि सोहराबुद्दीन और इशरत किस पृष्ठभूमि के थे। साल 2005 में वंजारा और दूसरे पुलिस अधिकारियों पर फर्जी मुठभेड़ का आरोप लगा था। इसके बाद आरोपी अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा चलाया गया। शिकायतकर्ताओं के आग्रह पर अदालत ने बंजारा के गुजरात प्रवेश पर रोक लगा दी थी। लगभग एक हफ्ता पहले विशेष सीबीआई कोर्ट ने उन्हें गुजरात लौटने की अनुमति दे दी। इसके लिए अदालत ने उनकी जमानत शर्तों में भी बदलाव किये थे। वंजारा 1980 में डिप्टी सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस के रूप में पुलिस फोर्स से जुड़े।

सन् 2002 में अहमदाबाद क्राइम ब्रांच से जुड़े। उस्मानपुरा में समीर खान एनकाउंटर में शानदार काम किया। उस वक्त के सीएम रहे मोदी खास बने। 2002 से 2005 तक अहमदाबाद की क्राइम ब्रांच के डिप्टी कमिश्नर थे। उनकी पोस्टिंग के दौरान गुजरात में करीब बीस लोगों का एनकाउंटर हुआ। वंजारा को 2007 में गुजरात सीआईडी ने गिरफ्तार किया था। पिछले साल फरवरी माह में उन्हें कंडीशनल बेल दी गई थी। बीती 2 अप्रैल को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने उनके गुजरात प्रवेश पर लगी अपनी रोक भी हटा ली और इस तरह 9 सालों बाद वंजारा की घर वापसी हुई।