'जनगण मन से पहले आया वंदे मातरम, राष्ट्र ध्वज से पहले आया भगवा'


 

मुंबई (2 अप्रैल): राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ यानी आरएसएस के सरकार्यवाह भैया जी जोशी के एक बयान ने नया विवाद खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा है कि जनगणमन से पहले आया वंदे मातरम और राष्ट्रध्वज से पहले आया भगवा ध्वज।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में जन गण मन हमारा राष्ट्रगान है और इसका सम्मान किया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि अगर कोई वास्तविक अर्थों पर विचार करें तो वंदे मातरम् ही हमारा राष्ट्रगान है।

दीनदयाल उपाध्याय रिसर्च इन्स्टीट्यूट में जोशी ने कहा कि जन गण मन में राष्ट्र को ध्यान में रखकर भावनाएं व्यक्त की गई हैं। लेकिन वंदे मातरम् में राष्ट्र की विशेषता और बनावट को रेखांकित किया गया है। इन दोनों के बीच अंतर है। दोनों का सम्मान किया जाना चाहिए।


कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि भगवा ध्वज को राष्ट्र ध्वज मानना ग़लत नहीं है। क्योंकि तिरंगा बाद में बना।