'जिन्ना से पहले VD सावरकर ने की थी देश के बंटवारे की बात'

नई दिल्ली (15 अप्रैल): जवाहर लाल यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट यूनियन के अध्‍यक्ष कन्‍हैया कुमार का कहना है कि भारत से अलग देश पाकिस्‍तान बनाने की अवधारणा मोहम्‍मद अली जिन्‍ना ने नहीं बल्कि सबसे पहले वीर सावरकर ने रखी थी। 

मीडिया में आई रिपोर्ट के मुताबिक, कन्हैया नागपुर में आयोजित एक कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। जहां कन्‍हैया ने ऐसा दावा किया। उन्‍होंने कहा कि देश को मोदी से, संसद को आरएसएस से और संविधान को मनुस्‍मृति से बदले जाने के खिलाफ वे लड़ाई लड़ते रहेंगे। 

कन्‍हैया कुमार से जब पूछा गया कि कांग्रेस के सह आयोजन वाले कार्यक्रम का न्‍योता उन्‍होंने कैसे स्‍वीकार किया? इस पर उन्होंने कहा, "मैंने किसी को मुझे बुलाने के लिए नहीं कहा। यह देश संविधान से चलेगा या मनुस्‍मृति से इस सवाल पर लोकतंत्र में हमें एक लाइन खींचनी होगी। जो लोग संविधान के पक्ष में हैं वे एक तरफ आना होगा।" उन्होंने कहा, "मेरे भाषण में मैंने लोकतंत्र को लेकर मौजूद खतरे पर ही चर्चा की। जहां तक सांप्रदायिकता की बात है तो हमें इतिहास में जाना होगा जहां से इसकी शुरुआत हुई। दो देशों की धारणा की नींव रखने वाले सावरकर थे न कि मोहम्‍मद अली जिन्‍ना।"