उत्तराखण्ड में उथल-पुथल: हरीश रावत ने कहा जनता के बीच जायेंगे !

नई दिल्ली (27 मार्च): : उत्तराखण्ड के चीफ मिनिस्टर हरीश रावत ने कहा है कि वो मौजूदा हालात को लेकर जनता करे बीच जायेंगे। वो आज देहरादून में मीडिया को सम्बोधित कर रहे थे। उनके इस बयान से आश्य लगाया जा रहा है कि वो राज्यपाल से विधान सभा भंग करने और राज्य में चुनाव कराने की मांग कर सकते हैं। इससे पहले उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी एक छोटे से राज्य का सरकार को लगातार कमजोर करने का प्रयास कर रही है।

ने की धमकियां दी जा रही हैं। इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष ने विनोद कुंजवाल ने भी स्पष्ट किया कि कॉंग्रेस के बागी विधायकों की सदस्यता पर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है। विधानसभा अध्यक्ष कुंजवाल और मुख्यमंत्री के इस रुख से स्पष्ट हो चुका है कि कॉंग्रेस आलाकमान भी उत्तराखण्ड में नये सिरे से चुनाव कराने के पक्ष में है। इससे पहले हरीश रावत ने कहा कि वो लोगों से पूछना चाहते हैं कि राज्य का भाग्य स्टिंग तय करेगा या पॉलिसी तय करेगी।

उन्होंने कहा कि जिस कथित स्टिंग को यह अपना अस्त्र बना रहे हैं, और उनकी विश्वसनीयता को ध्वस्त करना चाहते हैं, उनसे कहना चाहते हैं कि  इस स्थिति तक आने में 50 साल तक उत्तराखंड की गलियों में खाक छानी है, लोगों से जुड़े रहे हैं। वो इस मामले को लेकर उत्तराखण्ड की जनता के बीच जायेंगे, लेकिन उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि वो इस्तीफा देकर जनता के बीच जायेंगे या फिर मुख्यमंत्री रहते हुए।