उत्तराखंड के 9 बागी विधायकों की सदस्यता हो सकती है रद्द

नई दिल्ली (26 मार्च): उत्तराखंड के नौ बागी विधायकों की सदस्यता रद्द करने के लिए सीएम हरीश रावत ने स्पीकर से गुहार लगाई है।  इस पर बागियों में पूर्व सीएम विजय बहुगुणा, मंत्री हरक सिंह रावत, विधायक अमृता रावत, शैला रानी रावत, उमेश शर्मा, प्रदीप बत्रा, शैलेंद्र मोहन सिंघल, सुबोध उनियाल, कुंवर प्रणव चैंपियन शामिल हैं। 

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आज विधानसभा स्पीकर से मुलाकात कर बागी विधायकों की सदस्यता रद्द करने की मांग की है। बता दें कि रावत को 28 तारीख को विधानसभा में बहुमत साबित करना है। हालांकि, रावत लगातार बहुमत होने का दावा करते आ रहे हैं। उन्होंने बीजेपी पर जनता को गुमराह करने का भी आरोप लगाया है। 

उधर, हाईकोर्ट ने कांग्रेस के 9 बागी विधायकों की याचिका को खारिज कर दिया है। इस याचिका में विधानसभा अध्यक्ष गोविंद कुंजवाल के नोटिस को चुनौती दी गई थी। बता दें कि स्पीकर ने सभी बागी विधायकों को कारण बताओ नोटिस देकर पूछा था कि क्यों न दल-बदल कानून के तहत उनकी सदस्यता रद्द कर दी जाए?