शादी से 17 दिन पहले तिरंगे में लिपटे घर लौटे मेजर चित्रेश, अंतिम यात्रा में लगे अमर रहे के नारे


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 फरवरी): जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शादी से 19 दिन पहले शहीद हुए मेजर चित्रेश को आज आखिरी विदाई दी जा रही है। शादी से 17 दिन पहले आज तिरंगे में लिपटा उनका पार्थिक शरीर देहरादून पहुंचा। शहीद के पार्थिव शरीर को वायुसेना के विमान से जम्मू से जॉलीग्रांट एयरपोर्ट लाया गया। इस दौरान वहां सेना के अधिकारियों ने शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित की।  आज उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा है। अपने वीर सपूत मेजर चित्रेश की अंतिम यात्रा में भारी तादाद में लोग शामिल हैं और उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं।


आपको बता दें कि मेजर चित्रेश सिंह कश्मीर के राजौरी में शनिवार को आईईडी धमाके में शहीद हो गए। धमाका उस वक्त हुआ, जब वे आईईडी को डिफ्यूज कर रहे थे। मेजर चित्रेश भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून से वर्ष 2010 में पासआउट हुए थे। वर्तमान में वह सेना की इंजीनियरिंग कोर में थे। वे उत्तराखंड पुलिस के सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर एसएस बिष्ट के बेटे थे। उनकी शहादत की सूचना मिलते ही शोक की लहर दौड़ गई है। गमगीन परिवार को ढांढस बंधाने के लिए उनके घर पर लोगों का तांता लग गया। मेजर चित्रेश का परिवार राजधानी के नेहरू कॉलोनी क्षेत्र में रहता है।



बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी सेना और आतंकी मिलकर भारतीय सीमा के अंदर आए और उन्होंने आईईडी प्लांट कर दिया। पाकिस्तान की इस घटना की जानकारी जब भारतीय सेना को लगी तो वहां तलाशी अभियान चलाया गया। इस दौरान हुए आईईडी विस्फोट में सेना की इंजीनियरिंग यूनिट के मेजर चित्रेश सिंह बिष्ट शहीद हो गए जबकि एक जवान घायल हो गया। घायल जवान का ईलाज सेना अस्पताल में जारी है।