उत्तराखंड: जंगलों में लगी भीषण आग, हेलीकॉप्टर से पानी गिराकर बुझाने की कोशिश

नई दिल्ली(1 मई): उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग को रविवार को 89 दिन हो गए हैं। यह आग राज्य के सभी 13 जिलों के जंगलों तक फैल चुकी है। आग काबू पाने के लिए आर्मी और एयरफोर्स को बुलाया गया है। रविवार को सेना के MI-17 हेलिकॉप्टर्स से पानी गिराने का काम शुरू कर दिया गया। 

यहां बता दें कि आग गरमी के चलते लगी है। इस आग में अब तक सात लोग मारे जा चुके हैं जबकि 15 लोग घायल बताए जा रहे हैं। आग का यह सिलसिला शुष्क जाड़े के कारण दो फरवरी को शुरू हुआ था।

उत्तराखंड में 800 गांवों के आसपास के जंगल बीते एक हफ़्ते से आग से धधक रहे हैं। क़रीब 205 हेक्टेयर जंगल ख़ाक हो गया है। सबसे ज़्यादा वेतालघाट, रामगढ़ टाइगर रिज़र्व और राजाजी नेशनल पार्क के जंगलों में नुक़सान की खबर है। तेज़ हवा की वजह से फैलती आग को क़ाबू करने के लिए अब एनडीआरएफ़ की टीमों को लगाया गया है।

पौड़ी, चमोली और अल्मोड़ा ज़िले के अलग-अलग जगहों पर एनडीआरएफ़ का ऑपरेशन जारी है। कई इलाकों में आग पर काबू पाया भी गया है .लेकिन कुछ हिस्से ऐसे भी हैं जहां अभी भी आग पर क़ाबू पाना काफ़ी मुश्किल हो रहा है। उत्तराखंड सरकार के आग्रह पर दिल्ली फ़ायर सर्विसेज़ के डायरेक्टर भी वहां जा रहे हैं। प्रधानमंत्री कार्यालय ने भी आग के बारे में राज्यपाल से जानकारी मांगी है।