Blog single photo

घर का इकलौता चिराग थे शहीद अजय कुमार

पुलवामा एनकाउंटर में आतंकियों का सामना करते हुए मेरठ के रहने वाले वीर जवान अजय कुमार ने भी अपनी जान कुर्बान कर दी। आतंकियों से एनकाउंटर के दौरान अजय ने शहादत को गले लगा लिया और सीआरपीएफ जवानों

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 फरवरी): पुलवामा एनकाउंटर में आतंकियों का सामना करते हुए मेरठ के रहने वाले वीर जवान अजय कुमार ने भी अपनी जान कुर्बान कर दी। आतंकियों से एनकाउंटर के दौरान अजय ने शहादत को गले लगा लिया और सीआरपीएफ जवानों की शहादत का बदला ले लिया। 26 साल के अजय कुमार 07 अप्रैल 2011 को 20 ग्रेनेडियर में नियुक्त हुए थे। अजय कुमार कुछ समय पहले ही 55 राष्ट्रीय राइफल्स में जम्मू-कश्मीर में तैनात हुए थे। वह एक महीने की छुट्टी बिताकर अभी 30 जनवरी को ही ड्यूटी पर वापस गए थे। अजय अपने पीछे एक ढाई साल का बेटा छोड़ गए। शहीद अजय के पिता वीरपाल भी सेना से रिटायर्ड हैं।

Tags :

NEXT STORY
Top