वाराणसी के संकटमोचन मंदिर पहुंचे मनोज सिन्हा


नई दिल्ली(18 मार्च): उत्तर प्रदेश में रिकॉर्डतोड़ जीत के बाद से ही बीजेपी के मुख्यमंत्री को लेकर बना सस्पेंस आज खत्म होगा।  लखनऊ में आज शाम बीजेपी विधायक दल की बैठक होनी है, जहां विधायक दल का नेता चुना जाएगा। केंद्रीय राज्य मंत्री मनोज सिन्हा, यूपी बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, लखनऊ के मेयर दिनेश शर्मा, आठ बार के विधायक सुरेश खन्ना, सात बार के विधायक सतीश महाना समेत कई नाम इस रेस में हैं। हालांकि मनोज सिन्हा सीएम की कुर्सी के सबसे क़रीब बताए जा रहे हैं।


-  आज सुबह वह वाराणसी के काल भैरव मंदिर में पूजा-अर्चना के लिए पहुंचे, जिसके बाद इन कयासों को और बल मिल रहा है।

काल भैरव में दर्शन करने के बाद वह संकटमोचन मंदिर पहुंचे। जहां उन्होंने पूजा अर्चना की।


-  हालांकि उन्होंने बयान दिया था कि वह इस रेस में नहीं हैं।


कौन हैं मनोज सिन्हा


- 1 जुलाई 1959 को गाजीपुर के मोहनपुरा में जन्म हुआ, अपने सरल स्वभाव के कारण भी जाने जाते हैं।


- IIT (BHU) से सिविल इंजीनियरिंग में M.Tech की पढ़ाई की. आईआईटी बीएचयू से पढ़े मनोज सिन्हा की छवि काफी साफ सुथरी है।


-  मनोज सिन्हा राजनीति में सक्रिय रहे और सिन्हा बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में छात्र संघ के अध्यक्ष थे।


- 1989 में बीजेपी राष्ट्रीय परिषद के सदस्य बने


- 1996, 1999, 2014 में ग़ाज़ीपुर से सांसद बने


- मोदी सरकार में रेल राज्य मंत्री बने।