हमीरपुर में दो बच्चों समेत पांच लोगों की हत्या, हथौड़ा से किया गया प्रहार

murder

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(28 जून): हमीरपुर शहर के रानी लक्ष्मीबाई इलाके में एक सनसनीखेज मामला सामना आया है। गुरुवार को अज्ञात लोगों ने एक ही परिवार के पांच लोगों को मौत के घाट उतार दिया। गृहस्वामी जब लौटा तो पूरे परिवार के खून से लथपथ पड़े शव देखकर वह कांप उठा। कमरों में चारों तरफ खून फैला हुआ था। परिवार के पांच लोगों की हत्या की खबर फैलने से पूरे शहर में सन्नाटा पसर गया। 

जानकारी के मुताबिक सूचना मिलते ही डीएम-एसपी भी घटना स्थल पर पहुंचे। वारदात में किसी करीबी के शामिल होने की आशंका जताई जा रही है। रानी लक्ष्मीबाई तिराहे में रिटायर कर्मी नूरबख्श का मकान है। इसमें उसकी मां सकीना (85) के अलावा पुत्र रईस, उसकी पत्नी रोशनी, रईस की पुत्री आलिया (4) समेत परिवार के अन्य सदस्य रहते थे।

 बुधवार को नूरबख्श अपनी दूसरी पत्नी के साथ शादी में बिवांर गया हुआ था। गुरुवार देरशाम 7:30 बजे वह लौटा। घर में दाखिल होते ही वहां का मंजर देख वह चीख पड़ा। पुत्र रईस, बहू रोशनी, पोती आलिया, मां सकीना और एक अन्य बच्ची रोशनी का शव घर के अलग-अलग कमरों में खून से लथपथ पड़े हुए थे।शोर-शराबा सुनकर आसपास के लोग जमा हो गए। परिवार के पांच लोगों की हत्या हथौड़े और पत्थर के प्रहार से की गई थी। मौके से खून से सना हथौड़ा भी बरामद हुआ। एक ही परिवार के पांच सदस्यों की हत्या की खबर से प्रशासन में हड़कंप मच गया। डीएम अभिषेक प्रकाश, एसपी हेमराज मीना भारी पुलिस फोर्स के साथ पहुंच गए हैं।

 पुलिस की टीमें घटना के खुलासे में जुटी हुई है। नूरबख्श का बुरा हाल है। पुलिस को शक है कि हत्याकांड में परिवार का ही कोई सदस्य शामिल हो सकता है। हमीरपुर जिले के एसपी हेमराज मीना ने कहा कि रानी लक्ष्मीबाई इलाके में परिवार के 5 लोगों की हत्या का मामला सामने आया है। हमलावर ने हथौड़े के साथ-साथ पत्थर से कुचलकर सभी की हत्या की है। मामले की जांच के लिए टीमें गठित कर दी गई हैं। हत्याकांड में किसी परिचित के शामिल होने की आशंका है।  जल्द ही खुलासा कर दिया जाएगा। पांच हत्याओं से लोगों में दहशत

एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या के बाद हमीरपुर में लोगों के दिल दहल गए। सामूहिक नरसंहार से रानी लक्ष्मीबाई तिराहा क्षेत्र में दहशत फैल गई। घर के अलग-अलग कमरों में रईस, रोशनी, आलिया, सकीना और बच्ची रोशनी के शव खून से लथपथ पड़े हुए थे। परिजनों की चीत्कारें गूंज रही थीं। मातम देख आसपास के लोगों की आंखें भी नम थीं। सनसनीखेज वारदात के बाद पुलिस की टीमें अलर्ट हो गईं। हालांकि अभी तक कोई अहम सुराग नहीं मिला है लेकिन शक की सुई किसी करीबी के इर्द-गिर्द घूम रही है। सरकारी सेवा से रिटायर होने के बाद नूर बख्श ने रानी लक्ष्मीबाई तिराहे पर मकान बनवाया था। बूढ़ी मां सकीना भी रहती थी। नूरबख्श का पुत्र रईस पत्नी रोशनी और अपने बच्चों के साथ रहता था। आसपास के लोगों का कहना है कि परिवार की किसी से भलाई-बुराई नहीं है। रईस भी सीधे-साधे स्वभाव का था। ऐसे में इस नृशंस वारदात को कौन अंजाम दे सकता है। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई। पुलिस बचे हुए परिजनों से भी अलग-अलग पूछताछ कर तथ्य जुटा रही है।

 पूरा कुनबा साफ,आस पास के लोगों को पता नहीं 

परिवार के पांच सदस्यों की बेरहमी से हत्या हो गई और पड़ोस तक में किसी को भनक नहीं लगी। जबकि आसपास घनी आबादी है। घटना के सही समय का भी पता नहीं चल सका है। माना जा रहा है कि वारदात दोपहर 3 से 4 बजे के बीच हुई है। शवों को देखने के बाद डॉक्टर ने भी यही कयास लगाया है। अहम बात है कि सामूहिक हत्याकांड हो गया और किसी की भी चीख अगल-बगल सुनाई नहीं पड़ी। पुलिस ने घटनास्थल से खून से सना हथौड़ा भी बरामद किया है।