उत्तर प्रदेश के इस शहर में बिक रहा है मौत का पेड़ा

नई दिल्ली(9 सिंतबर):  त्योहार आते ही मिलावट खोर सक्रिय हो जाते हैं जो अपने मुनाफे के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार रहते है। ऐसा ही मामला देखने को मिला गोरखपुर में। 

- मामला तिवारीपुर थाना क्षेत्र के निजामपुर इलाके का है जहां दो ऐसी फैक्टरियां पकड़ी गईं। जहां क्वायल (मच्छर भगाने का क्वायल )मिलाकर नकली पेड़ा तैयार किया जाता था। पुलिस ने मामले में 6 लोगो को गिरफ्तार किया है ।

- ये लोग मैदा नकली दूध बनाने के पाउडर,समेत कई सामान मिलाकर पेड़ा तैयार करते थे और उसे मथुरा और आगरा का शुद्ध पेड़ा के नाम पर बेचते थे । सबसे खतरनाक बात तो ये है की ये पेड़े में मच्छर भगाने के लिए उपयोग किये जाने वाले क्वायल का उपयोग पेड़े के रंग को देने के लिए करते थे।

-पुलिस को ये सुचना मुखबिर द्वारा मिली। सीओ कोतवाली अशोक पांडेय ने कहा की पकडे गए लोगो में बाल श्रमिक भी शामिल है। यहाँ से एक बोरा क्वायल भी बरामद किया गया है। इनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी।

- फैक्टरी में जब छापेमारी की गई  तो वहां 6 से अधिक लोग काम कर रहे थे वहां जिस प्रकार से पेड़ा तैयार किया जा रहा था वह देखकर पेड़ा खाना इंसान भूल जाए। पेड़े बनाने के सामान में कीड़े बजबजा रहे थे गंदगी का अम्बार था ।पकडे गए आरोपियों ने कहा की लगभग 6 वर्षो से वो यह कारोबार कर रहे है।