अयोध्या में सरयू नदी पर रिवर फ्रंट बनाएगी योगी सरकार

aayodhya

Image Source  Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(20 जून): उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भी अब अखिलेश सरकार की तरह अयोध्या में सरयू नदी पर रिवर फ्रंट बनाने जा रही है। सैलानियों को अयोध्या की और आकर्षित करने के लिए सरयू नदी पर रिवर फ्रंट बनाने का फैसला किया गया है।

 बता दें कि पूर्व की अखिलेश यादव सरकार ने लखनऊ में गोमती नदी पर रिवर फ्रंट बनाया था। इससे सैलानी काफी संख्या में घूमने के लिए आते हैं। अब इसी को ध्यान में रखते हुए योगी सरकार ने अयोध्या में रिवर फ्रंट बनाने का फैसला किया है। इससे पहले प्रदेस सरकार द्वारा सरयू नदी पर बहुप्रतीक्षित बैराज निर्माण का भी सपना साकार होने की राह पर है।

 बैराज निर्माण से पूर्व भौगोलिक सर्वे के लिए 25 लाख रुपये सिचाई विभाग के अनुसंधान एवं नियोजन खंड को मिले हैं। मुख्य अभियंता वीके निरंजन के अनुसार सर्वे के लिए ई- टेंडर हो चुका है। सर्वे मैनुअल किया जाना है। कहा, करीब तीन महीने का समय सर्वे में लगेगा। अनुसंधान एवं नियोजन सूत्र प्रस्तावित बैराज को प्रदेश का सबसे बड़ा होने का दावा करते हुए इसमें करीब 70 गेट बता रहे हैं।

 गत वर्ष दीपोत्सव में आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भगवान राम की 221 मीटर की सबसे ऊंची प्रतिमा लगाए जाने के साथ ही सांसद लल्लू सिंह की मांग पर सरयू नदी पर बैराज बनाए जाने का भी ऐलान किया था। योगी सरकार में अयोध्या की पहचान बना दीपोत्सव कार्यक्रम छोटी दीपावली के दिन होता है।

 सीएम का उसमें आना तय होने से सिचाई विभाग में यकायक बैराज को लेकर हलचल बढ़ी है। सूत्रों के अनुसार सिचाई विभाग की अनुसंधान एवं नियोजन शाखा बैराज निर्माण के लिए सरयू नदी का जल स्तर घटने-बढ़ने का भी सर्वे करा चुकी है। भौगोलिक सर्वे के उपलब्ध डाटा को मॉडल स्टडी के लिए सिचाई अनुसंधान शाखा रुढ़की भेजा जाएगा।