एक नहीं 4-4 प्रदेश अध्यक्षों के दम पर यूपी के चुनावी मैदान में उतरेगी कांग्रेस !

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (27 जनवरी): आम चुनाव में अब महज चंद महीने बचे हैं, लिहाजा तमाम सियासी पार्टियां चुनावी रणनीति को अंतिम रुप देने में जुटी है। कहा जाता है कि दिल्ली की रास्ता उत्तर प्रदेश से ही जाता है। लिहाजा सबसे ज्यादा 80 लोकसभा सीट वाले यूपी पर तमाम पार्टियों की नजर है। सत्ताधारी बीजेपी ने भी उत्तर प्रदेश के लिए खास रणनीति बनाई है तो राज्य में ज्यादा से ज्यादा सीट जीतने के लिए समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मायावती ने गठबंधन कर लिया है। वहीं कांग्रेस की उत्तर प्रदेश पर पैनी नजर है और पार्टी राज्य में अपनी स्थिति मजबूत करना चाहती है।

इसी कड़ी में सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक कांग्रेस उत्तर प्रदेश के बड़ा प्लान बनाने की तैयारी है। कांग्रेस राज्य में एक पार्टी अध्यक्ष के बदले चार-चार पार्टी अध्यक्ष बनाने की तैयारी में है। सूत्रों के मुताबिक पार्टी राज्य में इलाके के हिसाब से प्रदेश में कार्यकारी अध्यक्ष बनाने पर विचार कर रही है। बताया जा रहा है कि एक कार्यकारी अध्यक्ष के पास 20 लोक सभा सीटों का जिम्मा होगा।

वहीं प्रियांका गांधी का कांग्रेस में एंट्री से उत्तर प्रदेश का रण और रोचक होता दिख रहा है। कांग्रेस राज्य में एक फिर से अपनी जड़ को मजबूत करना चाहती है। इसी कड़ी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रियांका गांधी को लोकसभा चुनाव के लिए पूर्वी उत्तर प्रदेश और ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी है। प्रियंका गांधी के साथ सिंधिया को यूपी की जिम्मेदारी दिए जाने से साफ है कि कांग्रेस यूपी में युवाओं में उनकी लोकप्रियता का फायदा उठाना चाहती है। आपको बता दें कि राज्य में ग्वालियर राजघराने का प्रभाव बुंदेलखंड क्षेत्र के कई जिलों में अभी भी है। वहीं पश्चिमी उत्तरप्रदेश में करीब दो दर्जन लोकसभा सीटें आती हैं।