छुट्टियों पर कैंची चलानी वाली योगी सरकार फैसले से पलटी

लखनऊ(11 दिसंबर): यूपी में योगी सरकार अपने फैसले से पलट गई है। सरकार महापुरुषों के जन्मदिन के अवकाश निरस्तीकरण के फैसले से पीछे हट गई है। सरकार ने साल 2018 की सरकारी छुट्टियों का आदेश जारी किया था। 2018 के कैलेण्डर में महापुरुषों के जन्मदिन की छुट्टियां घोषित की गईं थीं। सरकार बनने के बाद 15 छुट्टियां रद्द की गईँ थीं। कर्पूरी ठाकुर, महर्षि कश्यप, चेटी चंट, हज़रत ख्वाजा मुइनिद्दीन चिश्ती,चंद्र शेखर जयंती, परशुराम जयंती,पटेल जयंती ऐसी 15 छुट्टियां रद्द की गई थीं।

क्या था आदेश...

इस बार रविवार और दूसरे शनिवार को छोड़कर अधिकारियों और कर्मचारियों को कुल 25 गजेटेड अवकाश ही मिलेंगे। वहीं, रिस्ट्रिक्टेड अवकाश (आरएच) की संख्या को 16 से बढ़ाकर 30 कर दिया गया है।

मई और जुलाई में रविवार और दूसरे शनिवार को छोड़कर कोई सार्वजनिक अवकाश नहीं रहेगा। वहीं साल का पहला सार्वजनिक अवकाश 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस को होगा जबकि आखिरी अवकाश 25 दिसंबर को क्रिसमस पर रहेगा।

बता दें, कि 2018 में रामनवमी और रक्षाबंधन का त्योहार रविवार को होने के कारण अलग से कोई अवकाश नहीं रहेगा। गौरतलब है कि 2017 में 44 सार्वजनिक अवकाश और मात्र 16 रिस्ट्रिक्टेड अवकाश थे। वहीं मार्च में बीजेपी सरकार बनने के बाद महापुरुषों की जयंतियों के अवकाश को समाप्त कर दिया गया था।