यूपी के बुलंदशहर में जुटे 10 लाख से ज्यादा मुसलमान, जानें क्यों ?

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (3 दिसंबर): उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में 10 लाख से ज्यादा मुसलमानों के जुटने के दावे किए जा रहा है। दरअसल बुलंदशहर में 1 से 3 दिसंबर के बीच तबलीग इज्तिमा ने 3 दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया है। इसमें दुनियाभर के मुस्लिम धर्मगुरु हिस्सा ले रहे हैं। इस कार्यक्रम का आयोजन बुलंदशहर में एनएच-91 के दरियापुर कमालपुर के पास किया गया है।

आपको बता दें कि तबलीगी जमात दुनिया भर में मशहूर सुन्नी इस्लामी धर्म प्रचार आंदोलन है । तबलीगी जमात में लोग अलग-अलग गावों, कस्बों और शहरों में लोगों के घर जाकर उन्हें मस्जिदों में नमाज के लिए दावत देते हैं। मस्जिद में जमा लोगों को इस्लाम धर्म की बुनियादी शिक्षा दी भी जाती है। ये संगठन बड़े स्तर पर समागम यानि इज्तिमा का आयोजन भी करता है , जिसमें दुनिया भर से लोग शामिल होते हैं। मुफ्ती इमरान के मुताबिक 'इज्तेमा में धर्म के बताए रास्ते पर चलने, दूसरों की मदद करने, मेल-मोहब्बत से रहने, अपने वतन से मोहब्बत और उसकी हिफाजत के बारे में तकरीर की जाती है। इसके साथ ही इज्तेमा के आखिरी दिन दुआ होती है। मुल्क और मुल्क में रहने वालों की तरक्की के लिए दुआ होती है। मुल्क को प्राकृतिक आपदाओं से बचाने की भी दुआ होती है। ये देश का अब तक का सबसे बड़ा इज्तेमा बताया जा रहा है।'

इज्तेमा में किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी ना फैले इसके लिए प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। सुरक्षा को देखते हुए बाहरी जिले से एक एडिशनल एसपी, 10 सीओ, 10 एसओ/एसएचओ, 40 इंस्पेक्टर, 150 सब इंस्पेक्टर, 520 कांस्टेबल, 150 हेड कांस्टेबल और तीन कंपनी पीएसी की लगाई गई है।ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये खास रिपोर्ट...