रोज 2000 का छुट्टा देकर लोगों की मदद करता है ये भेलवाला


नई दिल्ली(31 दिसंबर): 2000 के नए नोट आने के बाद लोगों को छुट्टा पाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। लेकिन एक शख्स ऐसा भी है जो लोगों की इस दिक्कत को दूर करता है। जी हां ये शख्स उत्तर प्रदेश का सोहन गुप्ता जो भेल और पानी पूरी बेचकर अपना गुजारा करता है। सोहन रोजाना 2000 के तीन नोटों का छुट्टा देकर लोगों को दे पा रहे हैं।


-  लोअर परेल स्थित कमला मिल के गेट के सामने पानी पूरी का धंधा करने वाले सोहन बताते हैं कि हर रोज वह 3 लोगों को छुट्टा उपलब्ध करा देते हैं। इससे धंधे के साथ-साथ वह अब तक 100 से अधिक लोगों को मदद भी कर चुके हैं।


- वर्ली में रहने वाले सोहन ने बताया कि नोट बंदी कोई बड़ी समस्या नहीं है। हां, शुरुआत में लोगों को दिक्कतों का सामना जरूर करना पड़ा। पर, अब स्थिति में सुधार है।


- सोहन ने बताया कि वो पिछले 7 सालों से इस धंधे में हैं। खड़े रहकर सुबह 10 से रात 10 बजे तक धंधा करते हैं। इस दौरान उनसे 15 से 20 लोग 2000 के नोट का छुट्टा मांगने आते हैं। सबको तो छुट्टा दे पाना संभव नहीं होता लेकिन 2 से 3 को रोजाना वह छुट्टे देते हैं।हर चीज में कमीशन खाने की आदत वाले लोगों के सामने सोहन के आदर्श की तरह हैं जो 2,000 की नोट के बदले अपना 1 रुपया कमीशन भी नहीं लेते। सोहन कहते हैं कि यह पानीपूरी का धंधा मेरी रोजी-रोटी है और ग्राहक उसके अन्नदाता। तो अन्नदाता से कमीशन खाकर मेरा क्या होगा? सोहन ने कहा कि ईमानदारी से किए जानेवाले हर काम में बरक्कत होती है।