झाड़ -फूंक कराना परिवार को पड़ा महंगा, लाखों का माल लेकर मौलाना फरार

नई दिल्ली(6 सितंबर): गृह शांति और झाड़ -फूंक कर अनुष्ठान करवाना एक परिवार को उस वक्त काफी मंहगा पड़ गया। जब अनुष्ठान के लिए आया मौलाना ने पूरे परिवार को नशीला खीर खिलाकर पहले बेहोश किया फिर घर में रक्खा लाखों का माल लेकर रफूचक्कर हो गया । पीड़ित परिवार के सात लोग बाराबंकी के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है । जहाँ उनका इलाज चल रहा है । पुलिस ने भी मामले की गंभीरता को देखते हुए  जांच शुरू कर दी है ।

- बाराबंकी के थाना नगर कोतवाली इलाके के मोहल्ला दीनदयाल नगर में रहने वाले गुफरान (प्रधान )के घर दो दिन पूर्व एक मौलाना आये थे । 

- मौलाना ने गुफरान को कुछ ऐसी बातें बताई जैसे उनकी कमाई में बरक्कत नहीं होना ,घर में अशान्ति का बना रहना और मन में हमेशा परेशानी का भाव होना । मौलाना के इन्ही बातों में से वशीभूत होकर गुफरान ने मौलाना से इसका इलाज पूंछा । मौलाना ने इसके लिए घर में रहकर एक धार्मिक अनुष्ठान की बात कही जिसे गुफरान मान गया ।

- बीती आधी रात को मौलाना ने घर में खीर बनवाई और फिर उसमे परिवार वालों से छिपा कर नशीला पदार्थ मिला दिया । उसके बाद अनुष्ठान का नाटक करके उस खीर को पूरे परिवार को खाने को कहा । मौलाना के विस्वास पर गुफरान के पूरे परिवार ने खीर को खा लिया । खीर खाते ही परिवार के सभी लोग मूर्छित हो गए । परिवार के लोगों के बेहोश होते ही मौलाना घर में रक्खे साठ हज़ार रूपये और लाखों की ज्वैलरी लेकर फरार हो गया ।