सुन्नी समुदाय की अपील, अयोध्या के विवादित परिसर में बने राम मंदिर

नई दिल्ली(1 सितंबर): अयोध्या में राम मंदिर बनने का रास्ता धीरे धीरे साफ होता नजर आ रहा है। शिया के बाद अब सुन्नी समुदाय के धर्मगुरू ने भी विवादित परिसर में राम मंदिर बनाने की बात कही है।

- राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के बैनर तले हिंदू और मुस्लिम धर्मगुरु एक साथ आए और इसी मंच से किछौछा शरीफ के धर्मगुरू ने सुन्नी समुदाय की तरफ से विवाद को खत्म करते हुए राम मंदिर बनाने के लिए अपील की है।

- यूपी के किछौछा शरीफ के धर्मगुरु सैय्यद मोहम्मद इरफ़ान ने अयोध्या के विवादित परिसर में राम मंदिर निर्माण का एलान किया। 

- धर्म नगरी अयोध्या के साधु संत हो या फिर मुस्लिम पक्षकार सभी शुरू से ही सुलह समझौते से अयोध्या विवाद को हल करने के लिए प्रयासरत रहे हैं। इसी कड़ी में बीते दिनों शिया वक्फ बोर्ड की तरफ से मंदिर निर्माण के लिए हलफनामा दिया जाना और अब सुन्नी धर्मगुरु की मंदिर निर्माण के लिए पहल करना इस बात की तरफ इशारा करती है कि कहीं ना कहीं अयोध्या में राम मंदिर बनने का रास्ता साफ होता नजर आ रहा है।

- राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के बैनर तले हिंदू धर्मगुरू और सुन्नी धर्मगुरु एक साथ मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान किछौछा दरगाह के धर्मगुरू ने साफ किया कि मुस्लिम समुदाय में तथ्यों की जानकारी का अभाव है। जिसका फायदा उठा कर धर्म के ठेकेदार इस सुमदाय को गुमराह करते रहते हैं।

- अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए अभी तक संघ, वीएचपी, बजरंग दल और कुछ दूसरे हिंदू संगठन प्रयासरत थे, लेकिन केंद्र में मोदी और प्रदेश में योगी सरकार के आने के बाद तस्वीर काफी बदल चुकी है और ये साफ हो गया है कि अयोध्या में राम मंदिर का सपना जल्द पूरा हो सकता है।