योगी सरकार ने 39 आईपीएस अफसरों के किए तबादले

नई दिल्ली ( 13 मई ): उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने शुक्रवार को एक बार फिर बड़ा प्रशासनिक फेरबदल किया है। पुलिस प्रशासन में बड़ा बदलाव करते हुए आईजी, डीआईजी और एडीजी लेवल के 38 आईपीएस अफसरों के तबादले कर दिए हैं। इसमें लखनऊ, बरेली, आगरा और वाराणसी जोन के आईजी समेत करीब दर्जनभर पुलिस महानिरीक्षक को अलग-अलग जिलों में अलग-अलग पदों पर तैनात किया गया है। आपको बता दें कि पिछले एक महीने में प्रशासनिक स्तर पर यूपी सरकार ने ये पांचवां बड़ा फेरबदल किया है।


उत्तर प्रदेश सरकार ने पुलिस महकमे में भारी फेरबदल करते हुए आज 39 आईपीएस अधिकारियों के तबादले कर दिये। एडीजी स्तर के अधिकारियों को वाराणसी, लखनउ, मेरठ, आगरा और बरेली जोन का प्रभारी बनाया गया। गृह विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि एडीजी (अपर पुलिस महानिदेशक) प्रशिक्षण विश्वजीत महापात्र को वाराणसी भेजा गया है। मुरादाबाद स्थित पुलिस अकादमी के एडीजी आनंद कुमार को मेरठ, एडजी मेरठ को आगरा, एडीजी मुरादाबाद बृजराज मीणा को बरेली भेजा गया है। एडीजी अपराध अभय कुमार प्रसाद को एडीजी लखनऊ जोन बनाया गया है।


प्रवक्ता ने बताया कि एडीजी स्तर के वरिष्ठ अधिकारियों के लंबे अनुभव का लाभ महत्वपूर्ण जोनों में लेने के उद्देश्य से ये तबादले किये गये। उन्होंने बताया कि आगरा के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) सुजीत पाण्डेय को आईजी प्रशासन, लखनऊ बनाया गया है। एसटीएफ आईजी राम कुमार को आईजी मेरठ, आईटी सुरखा एम अशोक जैन को आईजी आगरा रेंज, आईजी पीएसी लखनउ एस के भगत को आईजी बरेली बनाया गया है।


प्रवक्ता ने बताया कि आईजी खाद्य प्रकोष्ठ जय नारायण सिंह को आईजी लखनउ बनाया गया है। आईजी पीएसी पूर्वी जोन आलोक सिंह को आईजी कानपुर रेंज और आईजी खुफिया राजेश कुमार श्रीवास्तव को आईजी फैजाबाद बनाया गया है। उन्होंने बताया कि सरकार ने बस्ती, सहारनपुर और वाराणसी में नये पुलिस उप महानिरीक्षकों की तैनाती भी की है।