भारत के दवाब में ट्रंपः 3 अप्रैल से ली जायेंगी H1B वीजा एप्लीकेशन

नई दिल्ली (17 मार्च): भारतीयों के लिए एक खुशखबरी है। मोदी के दबाव, कूटनीति और रणनीति के चलते अमेरिका फिल्हाल वीजा पॉलिसी में कोई फेरबदल नहीं कर रहा है। अमेरिका 2018 के लिए एच1बी वीजा के लिए एप्लिकेशन 3 अप्रैल से लेना शुरू करेगा। इस एलान के बाद माना जा रहा है कि ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन शायद इस साल वीजा नियमों में बदलाव न करे। हालांकि, अभी इस वीजा प्रोग्राम को लेकर स्थिति साफ नहीं है। इंडियन आईटी फर्म्स और प्रोफेशनल्स के बीच इस वीजा की सबसे ज्यादा डिमांड है।  हर साल 1 अप्रैल को एच-1बी वीजा के लिए एप्लिकेशन मंगाई जाती रही है। आमतौर पर डिपार्टमेंटपहले पांच बिजनेस डेज में एप्लिकेशंस लेता है।

 पिछले कुछ सालों में डिपार्टमेंट को बड़ी तादाद में एप्लिकेशंस मिलीं, जो अमेरिकी संसद से तय 85000 एच1बीवीजा की लिमिट को पूरा करने के लिए काफी थीं। 85000 में से 65000 वीजा दूसरे देश के इम्प्लॉइज के लिए और 20 हजार अमेरिकी यूनिवर्सिटीज में मास्टर्स डिग्री करने वाले दूसरे देशों के स्टूडेंट्स को जारी किए जाते हैं। इस बार इस वीजा की शुरुआती प्रोसेस आगे नहीं बढ़ पाया था , क्योंकि यूएससीआईएस ने इस पर छह महीने के लिए बैन लगा दिया था। अब तीन अप्रैल से फिर एप्लीकेशन मांगी गयी हैं।