अमेरिका ने सऊदी अरब से अपना स्टाफ हटाया, यमन प्लानिंग से जुड़े थे ये लोग

नई दिल्ली (20 अगस्त) :  अमेरिकी सेना ने अपने स्टाफ को सऊदी अरब से हटा लिया है। ये वो स्टाफ है जो यमन में सऊदी अरब की अगुआई में होने वाले हवाई हमलों में कोऑर्डिनेशन के काम में जुटा था। अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक सऊदी अरब से बाहर भी इस काम में लगे स्टाफ की संख्या में बहुत कमी कर दी गई है।

बहरीन में अमेरिकी नेवी के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट इयान मैक्कोनॉगी ने बताया कि अमेरिकी स्टाफ के अब 5 से भी कम लोग ज्वाइंट कंबाइन्ड प्लानिंग सेल (जेसीपीसी) के साथ फुल टाइम जुड़े हैं। इस सेल को बीते साल सऊदी अरब को अमेरिकी सपोर्ट के लिए बनाया गया था। इसके तहत जेट विमानों में ईंधन की फिलिंग और इंटेलीजेंस सूचनाओं का सीमित तौर पर आदान-प्रदान करना था। बता दें कि इस सेल से पहले सऊदी अरब और अन्य जगहों पर 45 लोग फुल टाइम जुड़े हुए थे।

रॉयटर्स की रिपोर्ट में स्टाफ को हटाए जाने के खुलासे के बाद पेंटागन ने भी एक बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है कि जेसीपीसी को जैसे मूल रूप से सोचा गया था, उसका मोटे तौर पर काम खत्म हो गया है। अब जो सपोर्ट बाकी है वो बहुत सीमित स्तर पर है।