अमेरिका ने चलाया ऐसा चाबुक, विश्व विरादरी से बाहर हो जायेगा पाकिस्तान!

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 15 मई): अमेरिकी प्रशासन ने आतंकियों के आका पाकिस्तान को पाठ पढ़ाना शुरू कर दिया है। पहला पाठ- पाकिस्तान के तीन सीनियर अफसरों को वीजा न देकर पढ़ाया है। अमेरिका ने पाकिस्तान पर ये पहला हण्टर चलाया है। अमेरिका की इस कार्रवाई से पाकिस्तान पर विश्व  विरादरी में बेइज्जत होने का खतरा बढ़ गया है।  इससे पहले अमेरिका ने कहा है कि पाकिस्तान जिन अपने नागरिकों को वापस लेने से इंकार कर रहा है उन्हें विशेष विमान से इस्लामाबाद छोड़ा जायेगा। इन पाकिस्तानीनागरिकों को अमेरीका की आंतरिक सुरक्षा के लिए खतरा मानते हुए देश निकाला का आदेश दिया था। पाकिस्तान ने अमेरिका के सख्त रुख के बावजूद इन नागरिकों को वापस लेने से इंकार कर दिया था। इसी का परिणाम है कि अमेरिका ने पाकिस्तान को दण्डित करते हुए उसके तीम वरिष्ठ अफसरों को भी वीजा देने से इंकार कर दिया है। अमेरिका ने जिन तीन पाकिस्तानी अफसरों को वीजा देने से इंकार किया है उनमें एक संयुक्त सचिव,  एकअपर सचिव और एक महानिदेशक स्तर का अफसर है।

दरअसल, राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प ने पद भार संभालने के कुछ दिन बाद ही 12 देशों के नागरिकों पर प्रतिबंध लगाया था उनमें एक नाम पाकिस्तान का भी था। तभी से अमेरिकी एजेंसियां इन देशों के उन नागिरकों की खोज में लगीं थीं जो अवैध रूप से अमेरिका में बस गये थे और जिनकी मौजूदगी से अमेरीका की आतंरिक सुरक्षा को खतरा पैदा हो सकता था। पहले चरण में पाकिस्तान के 70 नागरिकों की पहचान की गयी और पाकिस्तान सरकार से कहा गया कि इन्हें वापस ले। पाकिस्तान सरकार ने इन सभी को वापस लेने से जैसे ही इंकार किया वैसे ही अमेरिकी खुफिया और सुरक्षा ऐजेंसियों के कान खड़े हो गये। अंततः ट्रंप को खुद सामने आकर कहना पड़ा कि अगर पाकिस्तान इन्हें वापस नहीं लेगा तो पाकिस्तानी अफसरों को वीजा नहीं दिया जायेगा।अमेरिकी प्रशासन की कार्रवाई की पुष्टि खुद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने की है। उन्होंने बताया है कि 70 पाकिस्तानियों को वापस न लेने की वजह से अमेरिका ने तीन सीनियर अफसरों को वीजा देने से इंकार कर दिया है, अगर पाकिस्तान यही नीति अपनायेगा तो और भी अफसरों को वीजा से इंकार किया जा सकता है। शाह मदमूद कुरैशी ने कहा है कि अमेरिका से निकाले गये पाकिस्तानियों को विशेष विमान से वापस लाया जा रहा है।

Images Courtesy:Google